हस्तमैथुन से जुड़े सच और झूठ

Must read

हस्तमैथुन से जुड़े सच और झूठ

नमस्ते दोस्तों, आज हम आपको हस्तमैथुन से जुड़े सच और झूठ के बारे में जानकारी देने वाले हैं | बढ़ती उम्र के साथ साथ पुरुषों को हस्तमैथुन के बारे में बहुत सारे सवालात होते हैं | क्योंकि इस उम्र में लड़कों को और लड़कियों को हस्तमैथुन करने की जरूरत होती है, यह उम्र ऐसी होती है जिस उम्र में ऐसा लगता है कि हमें बहुत सारा शारीरिक सुख चाहिए | लेकिन हर किसी ने अपने शरीर पर कंट्रोल मिलाकर हस्तमैथुन करना चाहिए, इसलिए आज हम हमारे दोस्तों को और सहेलियों को हस्तमैथुन से जुड़े सच और झूठ के बारे में जानकारी देने वाले हैं | देखा गया तो हस्तमैथुन करना पूरी तरह से प्राकृतिक होता है, हस्तमैथुन करने से शरीर को आनंद महसूस होता है और शरीर का तनाव दूर होता है |

हस्तमैथुन से जुड़े सच और झूठ
हस्तमैथुन से जुड़े सच और झूठ

देखा गया तो हस्तमैथुन सभी लिंग और जाति के लोग करते हैं, हस्तमैथुन एक मजेदार कार्य होता है जिसमें हमें बहुत आनंद मिलने के साथ साथ हम प्रभावित हो जाते हैं | लेकिन फिर भी कम उम्र में लड़कों के मन में और लड़कियों के मन में हस्तमैथुन के बारे में कुछ अच्छे बुरे सवाल होते हैं | जिसके बारे में आज हम आपसे बात करने वाले हैं |

हस्तमैथुन से जुड़े सच और झूठ -:

हस्तमैथुन करने के फायदे और नुकसान -:

  • सबसे पहले हम देखेंगे हस्तमैथुन करने के फायदे | हस्तमैथुन एक यौन गतिविधि होने के कारण हस्तमैथुन के फायदे भरपूर है | जैसे कि हमें मानसिक तनाव से राहत मिलती है, हस्तमैथुन करने से भरपूर नींद आती है, हस्तमैथुन करने से हमारा मूड बेहतर हो जाता है, जो लड़के हफ्ते में से एक बार या हफ्ते में से दो तीन बार हस्तमैथुन करते हैं उन लड़कों को ऐसा महसूस होता है कि वह इस दुनिया के सबसे खुशनसीब इंसान है |
  • ऐसा नहीं है कि हस्तमैथुन सिर्फ लड़कों द्वारा किया जाता है, हस्तमैथुन लड़कियों द्वारा भी किया जाता है | हस्तमैथुन लड़कियों के यौन तनाव को दूर करने में मदद करता है, जिन लड़कियों को बेहतर सेक्स की अनुभूति नहीं होती है वह लड़कियां हस्तमैथुन करने का तरीका इस्तेमाल करती है | हस्तमैथुन हमारी इच्छाओं को और जरूरतों को बेहतर ढंग से कंट्रोल करता है, जिसके कारण बहुत सारी लड़कियां और बहुत सारे लड़के हस्तमैथुन करते हैं और अपनी यौन संतुष्टि प्राप्त करते हैं |
  • अब हम देखेंगे हस्तमैथुन करने के कुछ नुकसान | कई बार हम देखते हैं कि बहुत सारे लड़के और लड़कियां हस्तमैथुन के प्रति अवधारणा कर देते हैं, मतलब जिस बात को हम लिमिट में करते हैं वह बात हमारी जिंदगी में बदलाव ला सकती है | लेकिन किसी बात को लिमिट से बाहर करना मतलब हमारे स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं रहता है | इसलिए अधिक मात्रा में हस्तमैथुन करना ठीक नहीं होता है |
  • कई बार संतुष्टि प्राप्त करने के लिए बहुत सारे जवान बच्चों को हस्तमैथुन करने की लत पड़ जाती है | जिसके कारण वह रोजाना हस्तमैथुन करते रहते हैं, खासकर लड़कियां जब घर पर अकेली रहती है तब लड़कियां योनि में उंगलियां डाल कर खुद के जिस्म को संतुष्ट करने की कोशिश करती है | जब तक लड़की को संतुष्टि नहीं मिलती है तब तक लड़की हस्तमैथुन करती ही रहती है, जिसके कारण महिलाओं को यौन संवेदनशीलता नहीं आती है |
  • हस्तमैथुन की लत पड़ जाने के कारण हम दैनिक गतिविधियों को छोड़ देते हैं, कई बार हम स्कूल नहीं जाते हैं, कॉलेज नहीं करते हैं, पढ़ाई नहीं करते हैं, दोस्तों के साथ समय नहीं बताते हैं | ऐसे बहुत सारे हस्तमैथुन के साइड इफेक्ट है, कई बार अधिक हस्तमैथुन करने से गुप्तांगों में चोट आ सकती है या गुप्तांग शिथिल हो सकते हैं | इसलिए खुद में परिवर्तन ला कर हस्तमैथुन करना कंट्रोल में रखें |

क्या प्रेगनेंसी के दौरान हस्तमैथुन करना सही है -:

क्या प्रेगनेंसी के दौरान हस्तमैथुन करना सही है
क्या प्रेगनेंसी के दौरान हस्तमैथुन करना सही है
  • प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर में विभिन्न प्रकार के बदलाव होते रहते हैं | इन दिनों में महिलाओं के शरीर में हार्मोन का परिवर्तन होने के कारण महिलाओं को अधिक यौन उत्तेजना महसूस होती है | कई बार अधिक यौन उत्तेजना महसूस होने के कारण महिलाएं हस्तमैथुन करती है, देखा गया तो प्रेगनेंसी के दौरान यौन तनाव को कम करने के लिए हस्तमैथुन एक सुरक्षित तरीका होता है |
  • जिन महिलाओं को प्रेगनेंसी में पीठ के निचले हिस्से में दर्द होना, शरीर में दर्द होना, ऐसी समस्या आती है उन महिलाओं ने हस्तमैथुन करना चाहिए | योनि में उंगली डालने से महिलाओं को कामोत्तेजना महसूस होती है जिसके कारण शरीर की ऐंठन बिल्कुल कम हो जाती है |
  • कई बार महिलाओं को लगता है कि प्रेगनेंसी में हमेशा हस्तमैथुन करना चाहिए | हम हमारे महिलाओं को बताना चाहते हैं कि अधिक मात्रा में प्रेग्नेंसी में हस्तमैथुन ना करें, क्योंकि संतुष्टि प्राप्त करते समय महिलाएं योनि में गलत तरीके से उंगलियां डालती रहती है | जिसके कारण पेट में पल रहे बच्चे को चोट पहुंच सकती है, इसलिए प्रेगनेंसी के वक्त लिमिट में हस्तमैथुन करें जिससे आपको सुख प्राप्त होगा और प्रेगनेंसी की समस्या नहीं होगी |
  • कई बार गर्भावस्था के दौरान अधिक मात्रा में हस्तमैथुन करना नुकसानदायक भी हो सकता है | अगर आप पहली तिमाही में हमेशा हस्तमैथुन करती हो तो यह कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन आखिर के कुछ महीनों में हस्तमैथुन करने की जोखिम ना उठाएं | अगर आपको आख़िरी कुछ महीनों में हस्तमैथुन करना ही है तो आपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए |

हस्तमैथुन से जुड़े कुछ सच और झूठ -:

हस्तमैथुन से जुड़े कुछ सच और झूठ
हस्तमैथुन से जुड़े कुछ सच और झूठ
  • बताया जाता है कि अत्यधिक हस्तमैथुन करने से लिंग की उत्तेजना कम हो जाती है | देखा गया तो अत्यधिक हस्तमैथुन करने से लिंग में ताकत नहीं रहती है, जो बच्चे अधिक मात्रा में हस्तमैथुन करते हैं उन बच्चों को सेक्स करते समय अधिक उत्तेजना नहीं आती है इसलिए कंट्रोल में ही हस्तमैथुन करें |
  • बताया जाता है कि जो लोग रिलेशनशिप में होते हैं उन लोगों ने हस्तमैथुन नहीं करना चाहिए | लेकिन ऐसा कुछ नहीं होता है, कई बार बहुत सारे कपल्स अपने पार्टनर से संतुष्ट नहीं हो पाते हैं जिसके कारण वह हस्तमैथुन करने का रास्ता इस्तेमाल करते हैं | अगर आप शादीशुदा भी हो तो भी आप हस्तमैथुन कर सकते हो, ऐसी बहुत सारी महिलाएं है जो शादीशुदा होने के बावजूद भी हस्तमैथुन करती है |
  • डॉक्टर कहते हैं कि जो लोग अकेले में होते हैं वह हस्तमैथुन करते रहते हैं | देखा गया तो यह बात बिल्कुल सही है, आमतौर पर कोई भी व्यक्ति अकेले में ही हस्तमैथुन करता है | लेकिन जब हमें ऐसा महसूस होता है कि हम घर पर अकेले हैं और हमारे साथ कोई नहीं है तब हम आसानी से हस्तमैथुन कर सकते हैं | खासकर जवान लड़कियां घर पर अकेली होते समय योनि में उंगली डालकर खुद को संतुष्ट करती है |

यह थे हस्तमैथुन से जुड़े सच और झूठ |

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

नयी जानकारी :
error: Content is protected !!