वास्तव में किन्नर के गुप्तांग दिखने में कैसे होते है

वास्तव में किन्नर के गुप्तांग दिखने में कैसे होते है

नमस्ते दोस्तों, आज हम आपको वास्तव में किन्नर के गुप्तांग दिखने में कैसे होते हैं के बारे में जानकारी देने वाले हैं | बहुत सारे लोगों के मन में ख्याल होता है कि किन्नर मां के पेट में नहीं पलते हैं | दोस्तों हम आपको बताना चाहते हैं कि नॉर्मल पुरुष और महिला जैसे मां के पेट में ९ महीने तक रहते हैं उसी तरह किन्नर भी अपने मां के पेट में ९ महीने तक पलते हैं | फर्क इतना ही होता है कि नॉर्मल पुरुष और महिला अपना सेक्सुअल जीवन बिता कर बच्चे को जन्म दे सकते हैं और किन्नर गुप्तांग का विकास ना होने के कारण रिप्रोडक्शन नहीं कर सकता है|

वास्तव में किन्नर के गुप्तांग दिखने में कैसे होते है
वास्तव में किन्नर के गुप्तांग दिखने में कैसे होते है

किन्नर के जननांग के विषय को लेकर बहुत सारे लोगों के मन में बड़ी जिज्ञासा होती है | कई बार लोगों को पता ही नहीं होता है कि किन्नर के गुप्तांग कैसे दिखते हैं, इसलिए आज हम हमारे दोस्तों को वास्तव में किन्नर के गुप्तांग दिखने में कैसे होते हैं के बारे में जानकारी देने वाले हैं |

वास्तव में किन्नर के गुप्तांग दिखने में कैसे होते है -:

  • हम सबको पता है कि वास्तव में किन्नर दो तरह के होते हैं | एक होते हैं पुरुषों की तरह और दूसरे स्त्रियों की तरह दिखते हैं, किन्नर रिप्रोडक्शन नहीं कर सकते हैं | जिसके कारण उन्हें पुरुष या महिला हम नहीं कह सकते हैं | जिसके कारण किन्नर रेलवे में या किसी सार्वजनिक जगह पर लोगों से पैसे मांग कर अपनी जिंदगी बिताते हैं |
  • हिजड़े के जननांग कैसे होते हैं, यह सवाल अगर आप सार्वजनिक जगह पर पूछोगे तो कोई भी आपको जवाब नहीं देगा | दोस्तों हिजड़ों के जननांग के बारे में जानकारी आपको ही निकालनी पड़ेगी, देखा जाए तो जब कोई बच्चा मां के गर्भ में पलता है तब उसका ठीक तरह से विकास होता है | उसी तरह किन्नर भी अपने मां के पेट में पलते हैं, लेकिन उनके गुप्त अंगों का विकास ठीक तरह से नहीं हो पाता है |
  • हिजड़ो के गुप्त अंगो की विकास प्रक्रिया अचानक से रुक जाती है | जिसके कारण उनके गुप्तांग बहुत ही छोटे छोटे होते हैं, अगर पुरुष किन्नर होगा तो उसका गुप्तांग सिर्फ बारीक छिद्र जैसा दिखेगा और जो महिला किन्नर होती है उसके गुप्तांग सिर्फ अंडाशय की तरह दिखते हैं | मतलब उनके गुप्तांगों में बच्चा पैदा करने की ताकत होती ही नहीं है |
  • किसी कपल को अगर बच्चा पैदा करना है तो पुरुष अपना लिंग महिला के योनि में डालता है और पुरुषों का वीर्य महिला के योनि में जाकर प्रजनन क्रिया महिला के गर्भ में शुरू होती है | इस तरह की रिप्रोडक्शन सिस्टम किन्नरों में नहीं होती है, किन्नरों का लिंग ना होने के कारण वह अपना लिंग महिला के योनि में नहीं डाल पाते हैं | किन्नरों का लिंग खड़ा नहीं हो पाता है, जिसके कारण किन्नरों को सेक्स करना असंभव होता है |
  • महिला किन्नरों के गुप्तांग अंडकोष और अंडाशय का मिश्रण होता है | जिससे सिर्फ आंतरिक अंडकोष को हम देख सकते हैं | आपको कभी-कभी सवाल आता होगा कि किन्नरों को पीरियड्स आते हैं क्या, दोस्तों किन्नर अगर रिप्रोडक्शन नहीं कर सकते हैं तो किन्नरों को पीरियड्स आने का सवाल पैदा ही नहीं होता है |
  • दोस्तों किन्नरों के जननांग के बारे में जानकारी तब तक आपको समझ में नहीं आएगी जब तक आप किन्नरों के जननांग अपनी आंखों से ना देखते हो | लेकिन किन्नरों के गुप्त अंगों का विकास ठीक तरह से ना होने पर इसका मतलब ऐसा नहीं होता है कि वह इंसान नहीं है | दोस्तों वह इंसान ही होते हैं, सिर्फ उनके जिंदगी में सेक्स नाम की कोई चीज नहीं होती है | इसलिए हमने हिजड़ों से हमेशा रिस्पेक्ट फुली बिहेव करना चाहिए |

यह थी वास्तव में किन्नर के गुप्तांग कैसे होते हैं के बारे में जानकारी | दोस्तों किन्नरों का सेक्स, किन्नरों का जीवन, किन्नरों के कोई भी बात के बारे में अगर आपको हमें कोई सवाल पूछना है तो आप हमें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हो |

Leave a Comment

error: Content is protected !!