सुबह खाली पेट नीम के पत्ते खाने के फायदे

Must read
कैसे करे
कैसे करे
दोस्तों हम सभी जानकारी केवल आपके लिए ही दे रहे है , आप हमें सहायता करेंगे और आपका साथ हमेशा देंगे इसकी उम्मीद करते है |

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? हमारे भारत की संस्कृति बहुत ही प्राचीन है। प्राचीन काल से ही रोगों पर नियंत्रण पाने के लिए जड़ी बूटियों का इस्तेमाल किया जा रहा है। प्राचीन काल में ऋषि मुनियों ने आयुर्वेद में बहुत अध्ययन किया है। आयुर्वेद में हमें हर एक रोग पर इलाज करने के लिए बहुत सारे उपचार मिलते हैं। हमारे आसपास रहनेवाले पेड़ पौधे औषधि गुणों से युक्त होते हैं। किंतु हमें इस बात का पता नहीं होता।

आयुर्वेद में ऐसे कई जड़ी बूटियां है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही उपयुक्त होती हैं। ऐसा ही एक औषधि से युक्त पेड़ है नीम। जी हां! नीम का हर एक अवयव जैसे पत्ते, छाल, जड़, फल, फूल तथा टेहनिया हमारे लिए बहुत ही फायदेमंद होती हैं। नीम को आप किसी भी रूप में खाइए, इससे आपको कुछ ना कुछ फायदे जरूर मिलेंगे। सबसे खास बात ये है कि यह पेड़ हर जगह आसानी से उपलब्ध होता है और मुफ्त में हम इसका लाभ उठा सकते हैं। तो चलिए दोस्तों, आज हम बात करेंगे नीम के पत्तो को खाने से क्या फ़ायदे होते हैं।

सुबह नीम के पत्ते कितनी मात्रा में खाएं

सुबह खाली पेट अगर आप नीम की पत्तियों का सेवन करते हैं तो दिनभर आप तरोताजा महसूस करेंगे। हर सुबह आप ५-७ नीम की पत्तियां चबा चबाकर खाएं। ज्यादा मात्रा में खाने से आपको नुकसान भी हो सकता है। इसीलिए, जितना आपको ठीक लग रहा है उस हिसाब से खाएं।

नीम के पत्तों को किस तरह से खाएं

नीम के पत्तों को सुबह खाली पेट और बांसी मुंह चबा चबाकर खाएं। जिससे आपकी शरीर में अनचाहे जहरीले पदार्थ यानी टॉक्सीन बाहर निकल जाते हैं। नीम में एंटीबैक्टीरियल गुण पाएं जाते हैं, इसलिए  नीम के पत्तों का रस या अर्क दातों पर घिसने से दातों में जमी पीली परत कम होती है। मुंह से आनेवाली दुर्गंध कम होने में सहायता होती है। भारत के गांवों में आज भी कई लोग नीम का दातुन की तरह इस्तेमाल करते हैं। बुजुर्ग लोगों के दात आज भी सही सलामत रहे हैं और उसकी वजह है नीम! अगर आपको त्वचा से जुड़ी कोई समस्या है, तो आप नीम के पत्तों को पानी में उबालकर उस पानी से नहाएं तो आपकी स्किन प्रॉब्लम नष्ट हो जाती है। तो इस तरह से आप अलग अलग तरीकों से नीम का उपयोग कर सकते हैं।

सुबह खाली पेट नीम के पत्ते खाने से होनेवाले फायदे

दोस्तों, हमारे आयुर्वेद में किए जाने वाले उपचार पद्धति को पूरा विश्व मान्यता दे रहा है। लेकिन हम भारतीय इस बात से अनजान होते जा रहे हैं। कड़वी चीजें हमारे शरीर के लिए हमेशा फायदेमंद होती हैं। किंतु वह स्वाद में कड़वी होने कि वजह से हम उनको खाना टालते रहते हैं। जैसे नीम कड़वा होता है, परन्तु वह एक नायाब औषधि है।

  1. डायबिटीज में उपयोगी- मधुमेह रोगियों के लिए नीम एक रामबाण औषधि है। इसका सेवन करने से आपका मधुमेह नियंत्रित रखने में काफी मदत मिलती है। आजकल तो विज्ञान ने भी नीम को औषधि के रूप में मान्यता दी है। डॉक्टरों के मुताबिक, अगर आप रोजाना सुबह खाली पेट नीम की पत्तियों के रस का सेवन करेंगे तो आपका मधुमेह नियंत्रण में रहता है। नीम की पत्तियां चबा चबाकर खाने से भी हमारा डायबिटीज कम होने में मदद मिलती है।
  2. कैंसर में उपयोगी- नीम में एंटीऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। जिससे आपके शरीर में जो फ्री रेडिकल्स होते है, उनको नष्ट करने में मदद मिलेगी और रक्त शुद्ध होगा। नीम की पत्तियों का सेवन करने से हम कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से दूर रह सकते हैं। नीम में कुछ ऐसे घटक शामिल होते हैं, जो ट्यूमर को बढ़ने से रोकते हैं। स्किन कैंसर में भी नीम काफी कारगर साबित हुआ है।
  3. इम्युनिटी को बढ़ाता है- अगर आप अपनी इम्युनिटी बढ़ाना चाहते हैं, तो रोज़ाना नीम की पत्तियों का सेवन करना शुरू कर दे। नीम में एंटीऑक्सीडेंट्स, एंटीफंगल और एंटीमाइक्रोबियल गुण पाएं जाते हैं। यह सब तत्व हमारी इम्युनिटी को मजबूत बनाते हैं। जिससे आप कई छोटी मोटी बीमारियों से दूर रह सकते हैं। सादा सा फ्लू या बड़ी बीमारी जैसे हार्ट प्रॉब्लम्स हो, नीम का उपयोग हर बीमारी के इलाज़ के लिए होता है।
  4. त्वचा और बालों के लिए उपयुक्त- नीम के पत्तों में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं। अगर आप रोजाना सुबह खाली पेट नीम की पत्तियों का सेवन करेंगे, तो आपका रक्त शुद्ध होगा और उसका असर आपकी त्वचा पर जरूर दिखेगा। इससे आपके त्वचा पर दिखने वाले कील, मुंहासे, त्वचा का लाल होना, रैशेज या कोई स्किन इंफेक्शन यह सब कम होने में सहायता मिलेगी।त्वचा की तरह बालों के लिए भी नीम की पत्तियां उपयुक्त होती हैं। बालों में होनेवाली खुजली या रूसी को मिटाने के लिए आप नीम की पत्तियों का पेस्ट बनाकर बालों में लगाएं। उसके बाद किसी भी हर्बल शैंपू से धो लें। उससे आपके बाल निरोगी रहेंगे।
  5. पाचन तंत्र को मजबूती देता है- नीम ठंडा होता है। अगर आप खाली पेट नीम के पत्तों का काढ़ा या उन्हें चबाकर खाएं, तो आपके सीने में होनेवाली जलन, एसिडिटी जैसी समस्या कम हो सकती हैं। नीम की पत्तियां खाने से पाचन तंत्र को मजबूती मिलती है और पाचन अच्छे से होता है। जिससे हमें कब्ज़ से राहत मिलती है। इसी के साथ हमारे शरीर में मौजूद टॉक्सिक पार्टिकल को भी बाहर निकालने का काम नीम की पत्तियां करती हैं।

नीम की पत्तियां खाने से होनेवाले नुकसान

अगर आप नीम कि पत्तियों का सेवन उचित मात्रा में कर रहें हैं, तो आपको इसके बहुत सारे लाभ मिलेंगे। किंतु, अगर आप बहुत ज्यादा मात्रा में इसका सेवन करें तो इसके कुछ नुकसान भी उठाने पड़ सकते हैं। तो आइए जानते हैं इसके नुकसानों के बारे में।

  1. गर्भवती महिलाएं, बच्चे को स्तनपान करने वाली औरतें नीम का सेवन ना करें। ऐसी महिलाएं जो मां बनना चाहती हो, वह भी इसका सेवन नहीं कर सकती। इसका कोई उचित प्रमाण नहीं है, कि नीम के पत्तों से ऐसी महिलाओं को क्या तकलीफ़ होती है। अगर आपको नीम के पत्तों का सेवन करना है, तो आप अपने डॉक्टर से परामर्श करके उचित सलाह लें।
  2. अगर आप कई महीनों तक लगातार नीम कि पत्तियों का सेवन कर रहें हो, तो कुछ दिनों तक आप इसका सेवन वर्जित करें। क्योंकि, रोजाना लगातार सेवन से आपके मूत्रमार्ग में समस्या पैदा हो सकती है। इससे किडनी तक खराब होने की संभावना होती है।
  3. नीम के ज्यादा मात्रा में सेवन से शरीर का ब्लड प्रेशर असंतुलित हो सकता है। वैसे तो नीम ब्लड प्रेशर के लिए उपयुक्त ही होता है। पर ज्यादा मात्रा में नुकसान भी पहुंचा सकता है।
  4. कई स्किन एलर्जी को ठीक करने में नीम के पत्तों का  होता है। किंतु, कई बार कुछ लोगों को नीम की ही एलर्जी होती है।

नीम के पत्ते के काढ़े से होने वाले फ़ायदे

नीम का पूरा पेड़ ही गुणों का खजाना है। स्वाद में कड़वा रहनेवाला ये नीम हमारे सेहत को बेहतर बनाने के लिए बहुत ही अच्छा विकल्प साबित हुआ है। दोस्तों, आजकल नई नई बीमारियां सामने आ रही हैं। जैसे कि कोरोना महामारी! हम सोच भी नहीं सकते थे, कि ऐसी भी कोई बीमारी आएगी जिससे पूरी दुनिया प्रभावित होगी। इसीलिए, अगर हमें हमारी इम्युनिटी बढ़ानी है तो हमे नीम को अपने जीवन का हिस्सा बना लेना चाहिए।

नीम के पत्ते का काढ़ा पीने से हमारी रोगप्रतिकाराक शक्ति बढ़ती है। नीम के पत्तों में फाइबर होता है, जिससे हमारे पेट में होनेवाले कब्ज़ की समस्या से राहत मिलती है। नीम के पत्तों का काढ़ा बनाने के लिए १०-१२ पत्ते लेकर उन्हें मिक्सी में आधे ग्लास पानी में डालकर पीस लें और छानकर पी लें। इससे आपको थोड़े ही दिनों में फर्क महसूस होने लगेगा।

सुबह खाली पेट नीम के पत्ते खाने के फायदे
सुबह खाली पेट नीम के पत्ते खाने के फायदे

दोस्तों, अपने बॉडी का स्टैमिना और इम्युनिटी बनाएं रखना आजकल के जीवन की आवश्यकता है। इसीलिए, अपने शरीर गुणधर्म के अनुसार आप नीम के पत्तो को अपने रोजाना जीवन में शामिल करें और रोगों से मुक्ति पाएं। वैसे भी नीम तो कहीं भी मिल जाता है और हम मुफ्त में उसका लाभ उठा सकते हैं। तो क्यों ना निसर्ग के इस वरदान को एक बार आजमाया जाए!  धन्यवाद।

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

नयी जानकारी :
error: Content is protected !!