पान मसाला खाने के नुकसान और छोड़ने के उपाय

Must read
कैसे करे
कैसे करे
दोस्तों हम सभी जानकारी केवल आपके लिए ही दे रहे है , आप हमें सहायता करेंगे और आपका साथ हमेशा देंगे इसकी उम्मीद करते है |

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? आज कल टीवी की दुनिया बहुत ही एडवांस हो चुकी है। हर एक चीज तथा वस्तुओं का विज्ञापन बड़े ही आधुनिक तकनीक के साथ किया जाता है। पहले इतनी तकनीक नहीं थी और उत्पादन का विज्ञापन करना भी कोई जरूरी नहीं होता था। पहले टीवी पर प्रसारित होने वाले विज्ञापन बड़े ही सीधे तौर पर पेश होते थे। हम पूरा परिवार एक साथ देख सके ऐसे होते थे। लेकिन, आज कल तो बच्चों के साथ टीवी देखने में संकोच होता है।

कभी गुटखा, सिगरेट, तंबाकू या कंडोम तक की ऐड टीवी पर बिंदास तरीके से पेश की जाती हैं। पर इन विज्ञापनों में पान मसाला खाने के नुकसान नहीं बताये जाते है। इससे हमें संकोच होता है और बच्चों पर भी असर पड़ता है। बड़े बड़े सेलिब्रिटीज तंबाकू, गुटखा जैसे चीजों को प्रमोट करते हुए दिखाई देते हैं। जो कि गलत बात है। गुटखा, तंबाकू तथा पान मसाला खाने से शरीर को कई नुकसान होते हैं। इसका विज्ञापन कोई कैसे कर सकता है? तो दोस्तो, आज हम बात करेंगे पान मसाला खाने से होने वाले नुकसान तथा उसे छुड़ाने के उपचार के बारे में।

पान मसाला खाने के नुकसान

दोस्तों, हर चीज के कई फायदे और नुकसान भी होते हैं। लेकिन, पान मसाला या गुटखा जैसी चीजें खाने के नुकसान ही हो सकते हैं। उसके फायदे देखने को कम ही मिलते हैं। जब पान मसाला या तंबाकू का विज्ञापन किया जाता है, तब उस पर स्वास्थ्य से जुड़ी हुई चेतावनी भी दी जाती है। लेकिन, वह इतने छोटे शब्दों में होती हैं कि हमें दिखाई भी नहीं देती है और हम बस सेलिब्रिटीज को देखकर उस चीज को खाने को ललचा जाते हैं।

  1. लिवर की समस्या- दोस्तों, गुटखा और तंबाकू जैसे चीजों में निकोटीन शामिल होता है। जो कि कार्सिनोजेनिक होता है। उससे हमें कैंसर भी हो सकता है। वैसे तो पान मसाला में निकोटीन नहीं होता। लेकिन, उसमें नाइट्रोसमाइन शामिल होता है; जो कार्सिनोजेनिक होता है। पान मसाला खाने के बाद में हमारे लीवर को भी नुकसान पहुंचता है। पान मसाला हमारे लिवर को कमजोर बनता है और उसकी क्रिया शक्ति पर असर डालता है।
  2. दांत तथा मसूड़ों में तकलीफ़- जो व्यक्ति पान मसाला गुटखा का सेवन कर रहा हो, उसके दांत आप देखिए! वह बहुत ही पद भद्दे और गंदे दिखते हैं। पान मसाला खाने वाला व्यक्ति अपना पूरा मुंह नहीं खोल पता है। इस कंडीशन को “ओरल सबम्यूकस फाइब्रोसिस” कहते हैं। पान मसाला खाने से हमारे दांत कमजोर होते हैं, मुंह से बदबू आती है तथा मसूड़ों में सूजन आ जाती हैं। पान मसाला खाने के बाद में हमारी ओरल हाइजीन बहुत ही डिस्टर्ब हो जाती है।
  3. फेफड़ों की तकलीफ- पान मसाला हमारे फेफड़ों के ऊपर भी बहुत ही विपरीत परिणाम करता है। हमारे फेफड़े कमजोर हो जाते हैं और वहां फेफड़ों का कैंसर होने की भी संभावना होती हैं। हमारे फेफड़े कमजोर होने की वजह से चलते वक्त हमारी सांस फूलती है और सांस लेने में तकलीफ हो सकती हैं। पान मसाला खाने से हमारे फेफड़े कमजोर होकर उनके क्रियाशक्ति पर असर होता है।
  4. माउथ कैंसर- एक्सपर्ट्स तथा रिसर्च के अनुसार, पान मसाला खाने से हमारे मुंह, जबड़े और जीभ में सफेद दाग पड़ जाते हैं। जिसकी वजह से मुंह का कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है।
  5. ल्युकोप्लाकिया- पान मसाला हमारे पूरे ओरल सिस्टम और ओरल हाइजीन को बिगाड़ कर रख देता है। उसका ही एक उदाहरण है प्लूको प्लाकिया। इसमें मुंह में लाल दाग, पूरे मुंह में घाव बनना शुरू हो जाता है, मसूड़े खराब हो जाते हैं और ओरल टिश्यू डैमेज होना शुरू हो जाते हैं।

पान मसाला छुड़ाने के घरेलू उपाय

पान मसाला खाने की आदत छुड़ाने के लिए कुछ घरेलू उपाय हैं, जो आप ट्राई कर सकते हैं। इसमें सारे ही नैसर्गिक पदार्थों का उपयोग किया गया है। जो की सेहत के लिए अच्छे होते हैं और उनका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता है।

सबसे पहले तो आप अपनी तंबाकू या पान मसाला खाने की इच्छा को नियंत्रित करें। जब भी आप काम कर रहे होते हैं या आप खाली बैठे होते हैं, तभी आपको पान मसाला खाने की अगर इच्छा हो; तो इस इच्छा को आपको कंट्रोल करना होगा। अगर आप अपना मन बना ले, कि आपको यह गंदी चीज नहीं खानी है; तो आप आसानी से इससे छुटकारा पा सकते हैं। क्योंकि, कोई भी दवा तभी काम करेगी जब आपका मनोबल ऊंचा होगा और उस चीज के लिए आप सकारात्मक विचार करेंगे।

  1. हर्बल ड्रिंक- हर्बल ड्रिंक या हर्बल चाय बनाने के लिए आप तुलसी के कुछ पत्ते, अजवाइन, लौंग के १-२ टुकड़े, दालचीनी का छोटा सा टुकड़ा और अदरक का छोटा सा टुकड़ा ले। एक कप पानी में यह सब डालकर उबाल ले। थोड़ी देर उबालने के बाद उसको छानकर उसमे शहद मिलालें और उसे पीने के लिए दें। इससे आपके मुंह का स्वाद भी पड़ेगा और आपका मुंह हमेशा ही हाइड्रेटेड रहेगा। जिसकी वजह से आपको पान मसाला खाने की इच्छा नहीं होगी।
  2. तुलसी और ब्राह्मी के पत्ते- तुलसी और ब्राह्मी के पत्तों को हर रोज सुबह चबा चबाकर खाएं। उससे आपको पान मसाला खाने की इच्छा नहीं होती। तुलसी और ब्राह्मी के पत्ते शरीर को शुद्ध करने में बहुत ही उपयुक्त होते हैं। वह शरीर में निकोटीन या ऐसे कई जहरीले पदार्थों को बाहर निकालते हैं और शरीर के रक्त को शुद्ध करते हैं। जिससे कैंसर जैसी बीमारियों को दूर रखा जा सकता है।
  3. मुलेठी और सौंफ- जब भी आपको पान मसाला खाने की इच्छा हो, तो आप मुलेठी और सौंफ को मिलाकर चबा चबाकर खाएं। सौंफ हमारे मुंह को बदबू रहित रखने में मदद करती है तथा हमारे पाचन तंत्र को भी सुधारती है। मुलेठी शरीर से निकोटिन जैसे जहरीले पदार्थों को बाहर निकालकर पान मसाला खाने की इच्छा को नियंत्रित करती है।
  4. योग प्राणायाम- योग तथा प्राणायाम के फायदे हम लोगों से छुपे नहीं हैं। लगभग हर बीमारी के लिए योग तथा प्राणायाम बहुत ही उपयुक्त साबित हुआ है। इसलिए, अगर आपको पान मसाले की आदत छुड़ाना है तो आप योग प्राणायाम और मेडिटेशन का सहारा ले सकते हैं। मेडिटेशन और प्राणायाम करने से हमारी इंद्रियों तथा हमारे मन पर हमारा नियंत्रण रहता है। जिसकी वजह से हमें पान मसाला खाने की इच्छा नहीं होती हैं।
  5. चुइंगम- आजकल मार्केट में ऐसे बहुत सारे कमर्शियल प्रोडक्ट उपलब्ध है, जिनका उपयोग करके आप पान मसाला, गुटखा, सिगरेट जैसे आदतों से मुक्ति पा सकते हैं। इन प्रोडक्ट में कुछ ऐसे तत्व शामिल होते हैं, जिनको खा कर के हमें पान मसाला या कोई भी नशा करने की इच्छा नहीं होती है। यह एकदम से संभव नहीं होता है। लेकिन धीरे धीरे इसका असर दिखता है। जब भी आपको पान मसाला खाने की इच्छा हो, तो आप इस चुइंगम को खाएं। जिसकी वजह से आपको पान मसाला खाने की इच्छा नहीं होती है।
  6. रिहैब सेंटर- कभी-कभी इन सब चीजों का इस्तेमाल करके भी अगर आप पान मसाला खाने की आदत से छुटकारा नहीं पा रहे हैं, तो आप प्रोफेशनली मदद ले सकते हैं। इसके लिए आप रिहैब सेंटर जा सकते हैं। वहां पर आपको कुछ दिनों के लिए रहना पड़ेगा और उनकी जीवनशैली के अनुसार आपको जीवन जीना पड़ेगा। क्योंकि, वहां पर ऐसे लोगों के लिए एक विशिष्ट जीवनशैली होती है। उसमें आहार तथा योग, प्राणायाम और सकारात्मक विचारों को बढ़ावा देने वाले काम किए जाते हैं। जिससे आपको लत छुड़ाने में काफी मदद मिलती है।

पान मसाला छोड़ने के फायदे

दोस्तों, बुरी चीजों से दूर रहने के अनेक फायदे होते हैं। आप जब नशे की लत छोड़कर नॉर्मल जिंदगी जीने लगते हैं, तब आपको इसकी कीमत और फायदे समझ आते हैं।

  1. सबसे पहले तो आप कैंसर जैसी बहुत बड़ी और जानलेवा बीमारी से बच सकते हैं। क्योंकि, पान मसाला या गुटखा जैसी आदतें आपको एक ना एक दिन कैंसर की ओर जरूर ले जाती है।
  2. पान मसाला छूटने के बाद आप एक स्वस्थ जीवन जी सकते हैं। आपका लीवर, ओरल हाइजीन और आप के फेफड़े हमेशा ही मजबूत और हेल्थी रहेंगे।
  3. कोई भी लत हो, वह आपको नकारात्मक विचारों के तरफ ले जाती हैं। लेकिन, पान मसाले की लत छूटने के बाद आप हमेशा सकारात्मक विचार करेंगे और एक अच्छा जीवन बिताएंगे।
  4. पान मसाले की लत छूटने के बाद आपकी इच्छा शक्ति और प्रबल होगी और हर काम को आप बड़ी ही ईमानदारी और लगन के साथ कर सकते हैं।
  5. दोस्तों, आपको नशे से मुक्त देखकर आपका परिवार खिलखिला उठेगा और वह आपके लिए बहुत ही खुशी महसूस करेगा। वह आपके साथ हमेशा के लिए अच्छा जीवन व्यतीत करेगा।
पान मसाला खाने के नुकसान और छोड़ने के उपाय
पान मसाला खाने के नुकसान और छोड़ने के उपाय

जब हमें पता होता है, कि यह कोई भी नशे की लत ना ही हमारे लिए ठीक है ना कि हमारे परिवारिक जीवन के लिए ठीक है। तो उससे दूर रहना ही अच्छा! तो ऐसी बातों से आप अपने आप को दूर रखें और अपने परिवार के साथ में एक हेल्थी तथा आनंदी जीवन व्यतीत करें। उम्मीद है आपको आज का यह ब्लॉग काफी इंफॉर्मेशन दे गया हो और आपको अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

नयी जानकारी :
error: Content is protected !!