नाखून का रंग पीला क्यों पड़ जाता है

Must read
कैसे करे
कैसे करे
दोस्तों हम सभी जानकारी केवल आपके लिए ही दे रहे है , आप हमें सहायता करेंगे और आपका साथ हमेशा देंगे इसकी उम्मीद करते है |

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? हम सभी जानते हैं कि हमारे शरीर में कुछ अनचाहे बदलाव हुए तो, उसके हमें संकेत मिलते रहते हैं। लेकिन, आज कल हम ही हमारी लाइफ में इतनी बिजी रहते हैं; कि हम इन चीजों को समझ नहीं पाते हैं। ऐसे में, लापरवाही से आगे जाकर किसी बड़ी बीमारी का खतरा उठा लेते हैं।  नाखून का रंग पीला होना हमारे शरीर के अनचाहे बदलावों में से एक है। नाखून का पीला रंग हमारे शरीर में कुछ गड़बड़ी होने के संकेत देता है। जैसे कि; लीवर की बीमारी, किडनी की बीमारियां, फंगल इंफेक्शन का खतरा, दिल की बीमारी, फेफड़ों में संक्रमण, एलर्जी आदि बीमारियों के बारे में हमें संकेत मिलते हैं।

कई महिलाओं को सजने सवरने का बड़ा शौक होता है। वह हमेशा ही अपने नाखूनों पर नेल पेंट लगाए रहती है। नेल पेंट में कई सारे केमिकल्स मौजूद होते हैं, जिनकी वजह से हमारे नाखूनों तक ऑक्सीजन सही मात्रा में नहीं पहुंचता है। इस वजह से भी नाखूनों का रंग पीला पड़ जाता है। इसीलिए, हर बार नेल पेंट लगाते समय आप अपने नाखूनों की अच्छे से जांच करें। तो दोस्तों, आज जानेंगे नाखूनों का रंग पीला क्यों होता है और उस पर हम क्या उपाय कर सकते हैं?

नाखून पीले होने के कारण

आमतौर पर फंगल इंफेक्शन की वजह से आपके नाखून पीले पड़ सकते हैं। जैसे-जैसे फंगल इन्फेक्शन बढ़ते जाता है, वैसे वैसे आपके नाखून मोटे होते जाते हैं, गहरे पीले होते जाते हैं और ऐसे में आपके नाखून उखड़ भी सकते हैं। नाखून पीले होने के कई अन्य कारण होते हैं। हम एक-एक करके सब देखेंगे।

  1. डार्क नेल पेंट- महिलाएं डार्क नेल पेंट का इस्तेमाल करती हैं, जो काफी समय तक हमारे नाखून के ऊपर रहती हैं। नेल पेंट को बनाने में डाइज का इस्तेमाल किया जाता है। ज्यादा डार्क नेल पेंट लगाने से हमारे नाखून ठीक तरह से सांस नहीं ले पाते हैं और वह पीले पड़ जाते हैं।
  2. लिवर और किडनी डिजीज- लीवर में गड़बड़ी होने से हमारे शरीर में बिलीरुबिन का स्तर बढ़ जाता है और उस वजह से हमें पीलिया याने जॉन्डिस हो जाता है। जॉन्डिस होने से भी हमारे नाखून का रंग पीला पड़ जाता है। सिर्फ लीवर की बीमारी से ही नहीं, बल्कि किडनी की कार्यप्रणाली बिगड़ने की वजह से भी हमारा बिलीरुबिन का स्तर बढ़ जाता है; जिस वजह से हमारे नाखून पीले हो जाते हैं।
  3. प्ल्यूरल इफ्यूजन- इस रोग में हमारे फेफड़ों में अतिरिक्त द्रव जमा हो जाता है और इस वजह से हमारे नाखून पीले हो जाते हैं। नाखून पीले होना इस रोग का सामान्य लक्षण होता है।
  4. येलो नेल सिंड्रोम- येलो नेल सिंड्रोम फेफड़ों में पानी का कारण बनता है। इस इसके वजह से श्वसन संबंधित समस्याएं; जैसे ब्रोंकाइटिस, रूमेटाइड गठिया जैसी समस्याएं हो सकती हैं। येलो नेल सिंड्रोम की वजह से हमारे नाखून पीले हो जाते हैं, इनमें नाखून काफी मोटे हो जाते हैं और बहुत ही धीमी गति से बढ़ते हैं। कभी कभी ऐसे मरीजों को सूजन की समस्या भी होती है। इस सिंड्रोम की वजह से नाखून काफी कमजोर हो जाते हैं और आसानी से टूट सकते हैं। यह सिंड्रोम ज्यादातर ५०-६० आयु से अधिक वर्ष के लोगों को होता है।
  5. मेडिसिन- कभी-कभी हम विटामिन बी कॉम्प्लेक्स की दवाई लेते हैं, जो कि डार्क पीले रंग की होती है। इन दवाइयों के सेवन से भी हमारे नाखून पीले हो जाते हैं।
  6. अन्य कारण- नाखूनों का ज्यादा पीला होना कई अन्य बीमारियों का खतरा दर्शाता है। जैसे; ब्रोंकाइटिस, टीबी, फेफड़ों के रोग, डायबिटीज, थायरॉयड, कुपोषण, एनीमिया, सोरायसिस जैसी बीमारी के खतरों का संकेत हमें पीले नाखूनों के जरिए पता चलता है। ऐसी स्थिति में तुरंत अपने डॉक्टर की सलाह लेना उचित होता है।

पीले नाखूनों पर घरेलू उपाय

पीले पड़े नाखूनों का इलाज उनके कारणों पर निर्भर होता है। जैसा कारण होगा, वैसा उपाय आप अपना सकते हैं।

  1. विटामिन ई- विटामिन ई का इस्तेमाल आप पीले पड़े नाखूनों पर करें। येलो नेल सिंड्रोम के लिए विटामिन ई का सेवन बहुत असरदार साबित होता है।  विटामिन ई स्वस्थ और नॉर्मल नाखूनों के विकास को बढ़ावा देता है। आप विटामिन ई युक्त पदार्थों का सेवन कर सकते हैं या विटामिन ई को सीधा नाखूनों पर लगा सकते हैं। इस समस्या से निपटने के लिए अपने डाइट में विटामिन ई युक्त पदार्थों का सेवन अवश्य करें।
  2. टी ट्री ऑयल- अध्ययन के अनुसार, टी ट्री ऑयल नाखूनों पर फंगस को बढ़ने से रोकता है। इसीलिए, टी ट्री ऑयल के साथ नारियल का तेल या जोजोबा ऑयल मिलाकर; इस मिश्रण को नाखूनों पर लगा सकते हैं। इससे आपको पीले पड़े नाखूनों को नॉर्मल करने में काफी मदद मिलती हैं।
  3. अजवाइन का तेल- अगर आपको पीले पड़े नाखूनों का कारण पता नहीं है, तो आप अजवाइन के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। अजवाइन का तेल नारियल तेल या ऑलिव ऑइल के साथ मिलाकर नाखूनों पर लगाने से फंगस की ग्रोथ को रोका जा सकता है। अजवाइन के तेल में एंटीमाइक्रोबियल तत्व पाए जाते हैं।
  4. बेकिंग सोडा- गर्म पानी में बेकिंग सोडा मिला लें और ऐसे पानी में नाखूनों को थोड़ी देर तक भिगोकर रखें। इससे ना कि आपके नाखून अधिक साफ दिखने लगेंगे, बल्कि फंगस की ग्रोथ को भी रोका जाता है।
  5. डॉक्टर की सलाह- दोस्तों, पीले नाखूनों की समस्या के लिए आप डॉक्टर की सलाह भी ले सकते हैं। डॉक्टर आपके नाखूनों की अच्छे से जांच करेंगे और समस्या की गंभीरता के अनुसार आपको एंटीफंगल मेडिसिन लिखकर देंगे। डॉक्टर आपको कुछ ओरल दवाइयां देंगे। इसी के साथ, कुछ क्रीम लगाने को देंगे; जिसे आपको प्रभावित हिस्से पर लगाना है। कभी कभी इन दवाइयों का कुछ साइड इफेक्ट भी हो सकता है, इस बारे में आप अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर कर लें। अगर किसी भी दवा का साइड इफेक्ट हो रहा हो, तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।
नाखून का रंग पीला क्यों पड़ जाता है
नाखून का रंग पीला क्यों पड़ जाता है

दोस्तों, आज के लिए बस इतना ही। उम्मीद है, आपको आज का यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

नयी जानकारी :
error: Content is protected !!