मसूड़ों से खून आने के घरेलू उपाय

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? आज कल छोटे बच्चों से लेकर बड़ों को भी दांतों और मसूड़ों की तकलीफ समस्या होने लगी है। छोटे बच्चों का तो समझ में आता है, कि वह हमेशा ही कैंडी, चॉकलेट खाते रहते हैं। बच्चे अपना मुंह भी ठीक से साफ नहीं करते हैं, ब्रश नहीं करते हैं। तो उनमें यह समस्या आम है। लेकिन, बड़ों में भी यह समस्या काफी आम होते हुए दिख रही है। इसके कारण अलग-अलग हो सकते हैं। आज हम आपको मसूड़ों से खून आने के घरेलू उपाय बताने वाले है।

मसूड़ों में खून आने का मुख्य कारण होता है प्लाक। आपके मुंह में अगर प्लाक जमा हो गए हो, तो आपके मसूड़ों से खून आना शुरू हो जाता है। वैसे तो, मसूड़ों से खून आना यह कोई गंभीर बात नहीं है। लेकिन ,वक्त पर इसका इलाज करना ज़रूरी होता है। तो दोस्तों, आइए जानते हैं कुछ ऐसे घरेलू उपायों के बारे में जिनका उपयोग करके हम मसूड़ों में खून आने की समस्या के ऊपर निजात पा सकते हैं।

मसूड़ों से खून आने के कारण

मसूड़ों से खून आने के कई कारण हो सकते हैं। अपना मुंह ठीक से साफ ना करना, अपनी ओरल हाइजीन मेंटेन ना रखना जैसे कारण इसमें शामिल हो सकते हैं।

  1. मुंह की सफाई ना करना- अगर आप अपने मुंह की सफाई नहीं करते हैं, तो आपके दातों तथा मसूड़ों में खाना अटक जाता है। आपके मसूड़ों में झनझनाहट महसूस होती है, सूजन आ जाती है और दर्द भी महसूस होता है। जिसकी वजह से मसूड़ों से खून आने लगता है।
  2. टेढ़े दांत- टेढ़े मेढे दांतों की वजह से मुंह की सफाई ठीक से नहीं हो पाती है। जिसकी वजह से खाना दांतों तथा मसूड़ों में अटक जाता है। इसी के चलते, मसूड़ों में सूजन आ जाती है और खून आने लगता है।
  3. कठोर ब्रश का इस्तेमाल- कभी कभी हम कठोर ब्रश का इस्तेमाल करते हैं, जिससे दांतों तथा मसूड़ों पर अधिक दबाव महसूस होता है। इस दबाव की वजह से मसूड़े जख्मी हो सकते हैं और मसूड़ों से खून आ सकता है।
  4. विटामिन्स की कमी- शरीर में विटामिन की कमी की वजह से भी मसूड़ों से खून आ सकता है। शरीर में विटामिन “सी” और “के” दातों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण रोल निभाते हैं। विटामिन “के” शरीर के क्लोटिंग की प्रक्रिया में शामिल होते हैं। “विटामिन के” की कमी से मसूड़ों से खून बहने लगता है। “विटामिन सी” की कमी से भी मसूड़ों से खून आ सकता है और सूजन पैदा हो जाती हैं। कुछ लोग अपने आहार में सब्जियां, फल जैसी पौष्टिक चीजों का सेवन नहीं करते हैं। जिसकी वजह से इन विटामिंस की कमी आ सकती है।
  5. महिलाओं में हार्मोन्स में बदलाव- गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में बहुत सारे हार्मोनल बदलाव होते हैं। जिसकी वजह से उन्हें दांतों में दर्द, सूजन, मसूड़ों से खून आना इन जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

मसूड़ों से खून आने के लक्षण

मसूड़ों और दातों में अंतर आना, मसूड़े फूलना, मुंह से बदबू आना, मसूड़ों में दर्द होना, दातों तथा मसूड़ों में झनझनाहट महसूस होना, दातों में ढीलापन आना, खाते वक्त मसूड़ों तथा दांतों में झनझनाहट महसूस होना और दर्द होना आदि मसूड़ों से खून आने के लक्षण होते हैं।

मसूड़ों से खून आने के घरेलू उपाय

मसूड़ों से खून आने के बाद आप कुछ घरेलू उपाय अपना सकते हैं। घरेलू उपाय हमारे लिए सुरक्षित होते हैं। घरेलू उपायों में उपयोग होने वाली वस्तुएं हमारे घर में ही उपलब्ध होती हैं। जिनकी वजह से हमें कोई भी साइड इफेक्ट नहीं होता है। तो दोस्तों, आइए जानते हैं मसूड़ों से खून आने के बाद में आप कौनसे घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

  1. शहद- शहद में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं। जिससे आपके मसूड़ों में अगर बैक्टेरियल इंफेक्शन की वजह से खून आ रहा है, तो उसे नियंत्रित करने में मदद मिलती है। शहद में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते हैं। इसीलिए शहद का उपयोग करने से हमारे मसूड़ों में सूजन तथा झनझनाहट कम हो जाती हैं। शहद को थोड़ी सी मात्रा में आप अपनी उंगली पर ले और हल्के हाथों से अपने मसूड़ों पर उसका मसाज करें। इसका उपयोग आप दिन में दो से तीन बार तक कर सकते हैं।
  2. नमक का पानी- यह काफी आसान और सस्ता घरेलू इलाज है। एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच नमक डालकर उसे अच्छे से मिला लें और उस पानी से आप गरारे करें। इसका उपयोग आप दिन में दो बार कर सकते हैं। नमक में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। जिसके आपके मसूड़ों में आए हुए सूजन में आराम मिलता है। इसी के साथ उसने एंटीसेप्टिक गुण भी पाए जाते हैं, जिससे आपके मसूड़ों से खून आना कम हो जाता है और संक्रमण से लड़ने में मदद करता है।
  3. लौंग का तेल- लौंग के तेल का इस्तेमाल दांतों और मसूड़ों की तकलीफ के लिए काफी पुराने जमाने से होता आ रहा है। लौंग का तेल आसानी से मेडिकल स्टोर में मिल जाता है। लौंग में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। जो कि आपकी मसूड़ों में सूजन तथा खून आने की समस्या को कम करने में मदद करता है। लौंग के तेल की २-४ बूंदे आप ले और उसे हल्का सा गर्म करें। उसका सीधा अपने मसूड़ों पर मसाज करें। उसको ५-१० मिनट के लिए वैसे ही मुंह में पकड़ कर रखें और उसके बाद में गुनगुने पानी से अपना मुंह धो ले। इसका उपयोग आप दिन में दो बार कर सकते हैं।
  4. हल्दी- आयुर्वेद में हल्दी लगभग हर समस्या के ऊपर कारगर साबित हुई है। चूंकि, हल्दी में एंटीसेप्टिक, एंटीमाइक्रोबियल्स और एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। इसीलिए हल्दी का उपयोग लगभग हर समस्या के लिए किया जाता है। मसूड़ों में खून आने की समस्या के लिए भी हल्दी कारगर साबित हुई है। हल्दी के साथ में थोड़ा सा नमक और थोड़ा सा सरसों का तेल मिलाकर आप पेस्ट बना लें। इसका अपने मसूड़ों पर हल्के हाथों से मसाज करें और थोड़ी देर बाद अपना मुंह गुनगुने पानी से धो ले। हल्दी में मौजूद करक्यूमिन आपके दातों के ऊपर जमे हुए प्लाक को मिटाने में मदद करता है और मसूड़ों से खून आना भी बंद हो जाता है।
  5. डॉक्टर की सलाह- आप मसूड़ों से खून आने की समस्या के लिए डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं। क्योंकि, मसूड़ों से खून आने का साइंटिफिक रीजन भी होता है। इसीलिए, आप अपने डेंटिस्ट के पास जाएं, अपने दांतों का चेकअप कराएं और उनके अनुसार आगे के ट्रीटमेंट कराएं। आयुर्वेदिक घरेलू इलाज करने के बाद भी आपका मसूड़ों से खून आना बंद ना हो रहा हो, तो बेहतर है कि आप एक्सपर्ट की सलाह लें। डॉक्टर आपको कुछ दवाइयां देंगे जिसमें विटामिन कंटेंट वाली दवाइयां भी होंगी। क्योंकि, मसूड़ों से खून आने का एक कारण विटामिंस की शरीर में कमी भी हो सकती है।
मसूड़ों से खून आने के घरेलू उपाय
मसूड़ों से खून आने के घरेलू उपाय

दोस्तों, पूरे शरीर के साथ-साथ अपने मुंह का भी अच्छे से ख्याल रखें। क्योंकि, हमारा खाना सबसे पहले मुंह से होकर के हमारे पेट में जाता है। अगर हमारा मूड ही खराब होगा तो उसमें जो भी जीवाणु होंगे, वह आपके पेट में जाकर आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक साबित हो सकते हैं। इसीलिए, आप अपने ओरल हाइजीन मेंटेन रखें। उम्मीद है आपको आज का यह ब्लॉग मसूड़ों से खून आने के घरेलू उपाय अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

Leave a Comment

error: Content is protected !!