खैनी खाने के नुकसान और छोड़ने के उपाय

Must read
कैसे करे
कैसे करे
दोस्तों हम सभी जानकारी केवल आपके लिए ही दे रहे है , आप हमें सहायता करेंगे और आपका साथ हमेशा देंगे इसकी उम्मीद करते है |

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? दोस्तों, मानवजाति की एक बहुत ही विशिष्ट खासियत है। आजकल मानवजाति बुरी चीजों की तरफ जल्दी आकर्षित होने लगी है। चाहे वह बुरी और अनहैल्थी लाइफ़स्टाइल हो या नशे की लत हो। कुछ बुरे दोस्तों के संगत में बच्चों को युवावस्था में ही बुरी लत लग जाती है। कुछ लोग युवावस्था में ही सिगरेट पीना, शराब पीना, खैनी खाना, तंबाकू खाना इन जैसे बुरी आदतों का शिकार हो जाते हैं। इन बच्चों को देखकर उनके घर वाले बहुत ही चिंतित हो जाते हैं।

खैनी तंबाकू का ही एक प्रकार है, जो धुआं रहित होता है। खैनी तंबाकू के पत्तों को सुखाकर तैयार की जाती है। खैनी खाने से २५-२७ प्रकार के कैंसर होने की संभावना होती है। कुछ लोगों का मानना है, कि खैनी अन्य तंबाकू उत्पादों से कम हानिकारक होती हैं। लेकिन, यह सच है कि वह उतनी ही हानिकारक होती है; जितने दूसरे प्रकार हैं। खैनी में कुछ कार्सिनोजेंस मिलते हैं। जैसे फॉर्मलडिहाइड, आर्सेनिक, कैडमियम जैसे कैंसर पैदा करनेवाले घटक पाए जाते हैं। इनकी वजह से आपको कैंसर होने की संभावना होती है। खैनी जैसी बुरी लत को छोड़ने के लिए आप कुछ घरेलू इलाज या नुस्खे आजमा सकते हैं। इसी के साथ, आप रिहैब सेंटर जैसे प्रोफेशनल मदद भी ले सकते हैं। तो दोस्तों, आज जानेंगे खैनी खाने के नुकसान और छुड़वाने के कुछ घरेलू उपाय।

खैनी खाने के नुकसान

खैनी खाने से आपको सिर्फ नुकसान ही हो सकते हैं। इसके फायदे बतानेवाले लोग वही मिलेंगे, जो इसकी नशे की लत के आदी हो गए हैं। तो देखते हैं, खैनी खाने से क्या नुकसान हो सकते हैं।

  1. दांतों और मसूड़ों की समस्या- खैनी खाने के बाद में आपके दांत और मसूड़ों में समस्या उत्पन्न हो सकती है। आपके मुंह से बदबू आना, आपके दांत खराब होना, मसूड़ों में सूजन होना यह समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। वैसे देखा जाए, खैनी खाने के बाद में आपका पूरा ओरल हाइजीन डिस्टर्ब हो जाता है।
  2. इरेक्टाइल डिस्फंशन- खैनी खाने का सीधा परिणाम आपके प्रजनन क्षमता पर होता है। खैनी खाने से हमारे शरीर में बहुत ही अनचाहे बदलाव होते हैं और इसी के चलते पुरुष नपुंसकता की ओर बढ़ते हैं।
  3. कैंसर- खैनी खाना हमारे पूरे ही शरीर के लिए बहुत ही नुकसानदायक साबित होता है। खैनी खाने से हमारे शरीर में लीवर की समस्या उत्पन्न होती है और यह नशे की लत ना छोड़ी जाए तो एक दिन आपको यह मुंह के कैंसर, लीवर के कैंसर तक ले जाती है। जैसे कि हमने देखा, खैनी तंबाकू का प्रकार है और उसमें कार्सिनोजेन यानी कैंसर पैदा करनेवाले तत्व मौजूद होते हैं।इसी के साथ, खैनी खाने के बाद में आपको कोलोन कैंसर, महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर जैसी बड़ी बीमारियों का खतरा उठाना पड़ सकता है। फेफड़ों के कैंसर के लिए खैनी जैसे तंबाकू के पदार्थ ही जिम्मेदार होते हैं।
  4. अन्य बीमारियों का खतरा- खैनी की लत हमारे शरीर के हर अंग, हिस्से को प्रभावित करती है। खैनी खाने से अन्य बीमारियों का भी खतरा उत्पन्न होता है। जैसे; डायबिटीज, लीवर की समस्या, यौन संबंधी समस्या, हार्ट की प्रॉब्लम इन बीमारियों का सामना आपको करना पड़ सकता है।
  5. फेफड़ों की समस्या- खैनी खाने से उसका बुरा असर सीधा हमारे फेफड़ों पर पड़ता है। अगर यह लत ज्यादा दिनों से है; तो आपको सांस लेने में तकलीफ, चलते वक्त आपकी सांस फूलना, आपके फेफड़े कमजोर हो जाना तथा फेफड़ों का कैंसर तक हो सकता है।

खैनी छोड़ने के उपाय

दोस्तों, किसी भी इलाज से पहले आपकी मन की स्थिति उस इलाज के प्रति सकारात्मक होनी चाहिए। अगर आप उस इलाज के बारे में नकारात्मक विचार कर रहे हो, तो आप पुरी तरह से सहयोग नहीं दे पाते हैं। खैनी छोड़ने के कई घरेलू उपाय हैं, जो आप अपना सकते हैं।

  1. तुलसी और ब्राह्मी- तुलसी को आयुर्वेद में सर्वोपरि स्थान मिला है। लगभग हर समस्या में तुलसी का उपयोग होता है। तुलसी और ब्राह्मी के पत्ते रोज सुबह चबा चबाकर खाने से आपको खैनी खाने की इच्छा नहीं होती है। इसी के साथ, इन पत्तों का सेवन करने से आपके शरीर पर हुए खैनी खाने के बुरे असर को कम करने में भी मदद मिलती है।
  2. आंवला- आंवला में कई औषधि तत्व शामिल होते हैं। जब भी आपको खैनी खाने की इच्छा हो, तब आंवला, सौंफ और इलायची के पाउडर को समान मात्रा में मिलाकर उसका सेवन करें। इस सेवन से आपका पाचन तंत्र भी ठीक रहेगा और आपको खैनी खाने की इच्छा फिर से नहीं होगी। आप अपनी खैनी खाने की इच्छा पर कंट्रोल पा सकते हैं।
  3. सौंफ- सौंफ एक माउथ फ्रेशनर के रूप में हमारे भारत देश में इस्तेमाल किया जाता है। जब भी आपको खैनी खाने की इच्छा हो, तो आप सौंफ खा सकते हैं। इससे आपकी खैनी खाने की इच्छा पर कंट्रोल होगा। सौंफ के बीजों का पानी पीने से भी आपके खैनी खाने की इच्छा को कम करने में मदद मिल सकती है।
  4. अजवाइन- अजवाइन को थोड़ा भून लें और उसको अपने साथ रखें। जब भी आपको खैनी खाने की इच्छा हो, तब आप अजवाइन खा सकते हैं। यह आपके मूड को भी फ्रेश करेगा और इसी के साथ आपके पाचन तंत्र को भी रेगुलर करेगा। क्योंकि, खैनी खाने से आपका पाचन तंत्र पूरी तरह से बिगड़ा हुआ होता है।
  5. योग तथा प्राणायाम- दोस्तों, योग और प्राणायाम हमारी भारतीय संस्कृति को मिला हुआ एक वरदान है। लगभग हर समस्या के ऊपर प्राणायाम और योग कारगर साबित हुआ है। इसका असर धीरे-धीरे होता है, लेकिन अगर इसको आप रेगुलर बेसिस पर करते हो; तो आपको इसके फायदे जरूर देखने को मिलते हैं। योग तथा प्राणायाम करने से हमारे इंद्रियों तथा हमारे मन पर काबू पाने की शक्ति मिलती है। हमारा मन शांत रहता है और हमारे पूरे ही शरीर की कार्यप्रणाली उचित तरह से कार्य करती है।
  6. रिहैब सेंटर- इन सभी उपायों को अपनाने के बाद भी अगर आपके खैनी खाने की आदत ना छूट रही हो, तो आप प्रोफेशनल मदद ले सकते हैं। आप किसी रिहैब सेंटर को ज्वाइन कर सकते हैं। उसमें आपको एक विशिष्ट प्रकार की जीवनशैली जीनी पड़ती है। उसमें आपको विशिष्ट प्रकार के प्राणायाम तथा योग बताए जाते हैं, जो आपको रोजाना करने होते हैं। आपका आहार भी सात्विक और संतुलित होता है। रिहैब सेंटर में जाने से आपकी मनस्थिति स्थिर रहने में मदद मिलती है, जिससे आप खैनी खाने की इच्छा को काबू कर सकते हैं।
खैनी खाने के नुकसान और छोड़ने के उपाय
खैनी खाने के नुकसान और छोड़ने के उपाय

दोस्तों, अपनी जीवनशैली में सुधार लाएं और एक अच्छी जीवनशैली को अपनाने की कोशिश करें। खैनी जैसी बुरी आदतों से दूर रहकर अपनी सेहत को अच्छी रखें और अपने परिवार के साथ एक हसता खेलता जीवन जिएं। उम्मीद है, आपको आज का यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

नयी जानकारी :
error: Content is protected !!