कान में सनसनाहट की आवाज आने का इलाज

Must read
कैसे करे
कैसे करे
दोस्तों हम सभी जानकारी केवल आपके लिए ही दे रहे है , आप हमें सहायता करेंगे और आपका साथ हमेशा देंगे इसकी उम्मीद करते है |

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? दोस्तों आज हम चर्चा करेंगे कान में सनसनाहट की आवाज आने के कुछ घरेलू इलाज के बारे में। कभी-कभी हम नोटिस करते हैं, कि हमारे कानों में सिटी, रिंग जैसी आवाज आने लगती है। यह आवाज कान के अंदर से ही आती है, कहीं बाहर से नहीं आती है। कान की इस समस्या को “टिनिटस” कहते हैं। यह समस्या किसी भी आयु के लोगों को हो सकती है। इसमें जब आपके आसपास आवाज कम होती है, तो यह कान की सनसनाहट आपको ज्यादा सुनाई देती है। जैसे कि, रात में।

रात में हम जब सोने जाते हैं, तब आजू-बाजू बहुत ही शांती होती हैं। ऐसे में कान से आवाज आती है। यह समस्या कभी-कभी रुक-रुक कर होती है या कभी-कभी लगातार भी हो सकती है। इसी के साथ, इस समस्या में आवाज आने के वॉल्यूम में भी भिन्नता होती हैं। यह समस्या कई कारणों की वजह से होती है। जैसे; कान में मोम जम जाना, कान में किसी तरह का संक्रमण हो जाना कान की सुनने की क्षमता कम हो जाना आदि कारणों से हमें कान से सनसनाहट सुनाई देती है। तो आइए दोस्तों, जानते हैं कान में सनसनाहट के होने के कारण, लक्षण और उसके कुछ घरेलू उपाय

कान में सनसनाहट की आवाज आने के कारण

वैसे तो, टिनिटस के कारणों के बारे में पूरी तरह से पता नहीं चल पाया है। यह समस्या धीरे-धीरे विकसित होती है या कभी-कभी अचानक से उभर कर आती हैं। इस समस्या की वजह से कान को बहुत ही नुकसान पहुंचता है।

  1. लगातार तेज आवाज सुनने की वजह से कानों में आई अंदरूनी चोट की वजह से भी टिनिटस हो सकता है।
  2. कान के अंदरूनी हिस्से में हुए संक्रमण की वजह से या चोट लगने की वजह से भी कान में सनसनाहट की आवाज सुनाई देने लगती है।
  3. कान में मैल जम जाना और उसको साफ ना करने से उसमें पस हो जाने की वजह से भी कान में टिनिटस हो जाता है।
  4. किसी गंभीर संक्रमण या चोट लगने से कान के पर्दे में छेद हो जाता है और कान से सनसनाहट की आवाज आने लगती हैं।
  5. बढ़ती उम्र के साथ सुनने में आने वाली परेशानी की वजह से भी कान से सनसनाहट की आवाज आ सकती है।
  6. कान के अंदरूनी हिस्से की हड्डी में वृद्धि हो जाने की वजह से सुनने की क्षमता कम हो जाती है और कान से सनसनाहट की आवाज आने लगती है।

कान में सनसनाहट की आवाज के लक्षण

कान की सनसनाहट के बहुत सारे लक्षण होते हैं।

  1. आवाज की तीव्रता कभी ज्यादा तो कभी होना।
  2. रात को सोते समय जब कोई शोर ना हो, तब टिनिटस की समस्या ज्यादा होना।
  3. तेज सिरदर्द और कान में जोर से घंटियों या रिंग की आवाज आना।
  4. कान में झनझनाहट महसूस होना।
  5. कभी कभी यह समस्या गंभीर हो सकती हैं। इससे कान में होनेवाला शोर ज्यादा होता है और हमारी सुनने की क्षमता पर बहुत ज्यादा असर पड़ता है।

कान की सनसनाहट की आवाज पर घरेलू उपचार

अगर यह समस्या ज्यादा गंभीर ना हो, तो आप कुछ घरेलू उपचार अपना सकते हैं। जिनको अपनाने से आपको कान की सनसनाहट से काफी राहत मिलती है। इसी के साथ, आप डॉक्टर की सलाह भी ले सकते हैं।

  1. तुलसी- तुलसी में एंटीमाइक्रोबियल्स तत्व पाए जाते हैं। इसका प्रयोग हमारे कान में टिनिटस के कारक बैक्टीरिया को मारने में प्रभावी होता है। तुलसी की कुछ पत्तियां ले और उनको मिक्सी में पीस ले। उसके बाद उसको छान लें और उसका रस निकाल लें। अब इस रस को धीमी आंच पर हल्का गुनगुना गर्म कर लें। ठंडा होने पर कान में २-३ बूंदें डालें। इसका प्रयोग आप दिन में ३-४ बार कर सकते हैं।
  2. लहसुन- ठंडी के मौसम में अक्सर टिनिटस की समस्या उभर कर आती है। ऐसे में तिल के तेल में २-३ लहसुन की कलियां कुचलकर डाल ले और इस मिश्रण को अच्छी तरह से गर्म कर लें। ठंडा होने के बाद इसकी २-३ बूंदे कान में डाल लें। लहसुन में एंटी बैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक तत्व मौजूद होते हैं। यह तेल का मिश्रण कान में डालने से कान में रक्त संचार बढ़ता है और संक्रमण कम होने में मदद मिलती है।
  3. एप्पल साइडर विनेगर- सेब के सिरके में एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं। एप्पल सीडर विनेगर को शहद में मिलाकर, दिन में एक से दो बार पीने से टिनिटस में काफी आराम मिलता है। इसका सेवन जब तक टिनिटस की समस्या दूर नहीं होती, तब तक करें।
  4. अदरक- अदरक को हीलिंग एजेंट के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। यह दर्द निवारक और औषधीय गुणों से युक्त होता है। कच्चे अदरक का टुकड़ा चबाने से कान के मसल्स पर दबाव आता है और उससे टिनिटस में काफी आराम मिलता है। इसी के साथ, आधा चम्मच अदरक के टुकड़े एक गिलास पानी में उबालकर छान लें। अब इसमें शहद मिलाकर पी लेे। इस पानी का सेवन करने से टिनिटस की वजह से कान में होनेवाले दर्द में राहत मिलती है।
  5. एक्सरसाइज- रोजाना एक्सरसाइज करने से आपको कान की सनसनाहट की समस्या से छुटकारा मिल सकता है। एक्सरसाइज करने से हमारे शरीर की कार्यप्रणाली बेहतर होती हैं और रक्त संचार ठीक से होता है। व्यायाम करने से हमारे शरीर की सारी नसे मजबूत होती हैं और उचित प्रकार से कार्य करती हैं। टिनिटस के लिए कौनसी एक्सरसाइज करनी चाहिए, इसके लिए आप फिजियोथेरेपिस्ट एक्सपर्ट की सलाह ले सकते हैं।
  6. डॉक्टर की सलाह- दोस्तों, घरेलू इलाज अपनाने के बाद भी आपके टिनिटस की समस्या कम नहीं हो रही हो, तो आप तुरंत ईएनटी स्पेशलिस्ट डॉक्टर से संपर्क करें। डॉक्टर आपके कान की अच्छे से जांच करेंगे और समस्या की गंभीरता को देखने के बाद आपको दवाइयां लिख कर देंगे। डॉक्टर आपको कुछ दिशानिर्देश तथा सावधानियां बताएंगे, उनका पालन जरूर करें।

तो दोस्तों, आज के लिए बस इतना ही। उम्मीद है, आपको आज का यह ब्लॉग अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

नयी जानकारी :
error: Content is protected !!