गले में इन्फेक्शन क्यों होता है ? जानिए Throat Infection कारण और उपचार

, , Leave a comment

Last Updated on

आज का हमारा विषय है गले में इन्फेक्शन के बारे में जो कि आज के भागदौड़ भरी दुनिया में कई सारे लोगों को होते रहते हैं | क्योंकि आज कल लोगों को अपनी सेहत का ध्यान रखने का टाइम नहीं मिलता है, या ऐसा भी कह सकते हैं कि उन्हें अपनी सेहत का ध्यान रखना ज्यादा जरूरी नहीं समझते हैं | तो इसीलिए हम यह विषय लेकर आए की गले में इन्फेक्शन क्यों होते हैं ?

गले में इन्फेक्शन होने के तो कई सारे कारण होते हैं, लेकिन साधारण रूप से देखा जाए तो हम रोजमर्रा के जीवन में जिस प्रकार की चीजें खाते हैं चाहे वह बहुत ऑयली हो या तीखे हो उन कारण भी हमें जल्द ही गले का इंफेक्शन हो जाता है |

कई सारे लोग ऐसे होते हैं, जो बहुत अधिक मात्रा में डर जाते हैं और गले के इन्फेक्शन के कारण हमेशा चिंतित रहते हैं तो ऐसे लोगों के लिए हम यह जानकारी लेकर आए हैं कि Throat Infection यह साधारण और नॉरमल रहता है, जो कि चार-पांच दिनों में आसानी से निकल जाता है |

तो आगे की जानकारी में हम थोड़ा Throat Infection क्यों होते हैं, इसके बारे में गहराई से जानकारी देने जा रहे हैं |

गले में इन्फेक्शन होने के कारण क्या है ? Gale me Infection Hone ke Karan :

गले में इन्फेक्शन
गले में इन्फेक्शन
  • राह चलते हुआ खाना या खराब ऑयल से बना हुआ खाना खाने के कारण गले का इंफेक्शन हो सकता है |
  • अगर आप रोजाना बहुत ज्यादा मसालेदार पदार्थ खाते हैं, तो आपको गले का इंफेक्शन हो जाता है |
  • जिन लोगों को शराब या तंबाकू खाने की आदत होती है उन लोगों को गले का इन्फेक्शन हमेशा होता ही रहता है |  क्योंकि तंबाकू में निकोटिन होने की वजह से वह गले को अंदर की ओर से खराब करता है |
  • कोई इंसान रोजाना बहुत ही कम पानी पीता हो, तो उसका गला सुखा होने के कारण उसे इंफेक्शन हो जाता है |
  • वायरल इंफेक्शन के कारण भी गले में इंफेक्शन हो जाता है | जैसे कि किसी प्रकार का विशिष्ट बैक्टीरिया अगर आपके मुंह के नाक के जरिए आपके गले में चला जाए तो वह वहां पर इंफेक्शन पैदा कर देता है |
  • कई लोगों को धूल मिट्टी के एलर्जी होती है, तो उसी कारण उनका गला इनफेक्टेड हो जाता है |
  • जिन लोगों को टॉन्सिल की बीमारी होती है या परेशानी होती है, उन लोगों को ज्यादातर गले के इन्फेक्शन होने का खतरा होता है |

गले में इंफेक्शन होने के लक्षण क्या है ? Gale me Infection hone ke lakshan :

  • सबसे पहले हमारा गला दर्द करने लगता है |
  • अगर आप किसी भी चीज को खाते पीते हो, तो उस दौरान गले में बहुत अधिक मात्रा में दर्द होता है |
  • या अगर आप कोई चीज खाते पीते हो उस दौरान गले में जलन महसूस होती है
  • बात करते वक्त गले में दर्द होना यह भी गले का इन्फेक्शन होने का लक्षण है |अगर आप सांस लेते हैं और छोड़ते हैं, तो उस दौरान आपके गले में जलन हो रही है तो यह भी एक लक्षण है |
  • जब गले में इंफेक्शन होता है, तो साथ ही साथ आपको सर्दी और सर दर्द का भी सामना करना पड़ता है |
  • गले में इन्फेक्शन होने के बाद गले में खुजली जैसा महसूस होता है |
  • हमेशा गले से बलगम निकलता रहता है |
  • गले में इन्फेक्शन होने के कारण गले में अंदर से और बाहर से सूजन आती है |

गले में इंफेक्शन के लिए घरेलू उपाय : Gale me Infection ke Liye Gharelu Upay :

  1. दोस्तों अगर आपको किसी कारण गले में इंफेक्शन हो गया है, तो आप उसे गर्म पानी में नमक डालकर उस पानी से कुल्ले करते हो, तो आपका गले का इन्फेक्शन दूर हो जाता है |
  2. कई बार अगर आपको गले का इंफेक्शन होता है तो आपके दादा-दादी आपको शहद खाने  की सलाह देते हैं, क्योंकि शहद से आपके गले को राहत मिलती है और गला ठंडा रहता है |
  3. गले के इन्फेक्शन को दूर करने के लिए आप गर्म दूध में हल्दी डालकर भी पी सकते हैं | हल्दी में बैक्टीरिया के खिलाफ लड़ने की ताकत होती है और जब हल्दी दूध के जरिए गले में जाती है, तो सारे वायरल इंफेक्शन को खत्म कर देती है और आपके गले को अच्छा और स्वस्थ बना देती है | इसीलिए हल्दी यह 1 रामबाण उपाय है |
  4. गले में इन्फेक्शन के कारण अगर सूजन आ गई है तो आप गर्म पानी करके गले को मसाज कर सकते हैं | जिससे गले की सूजन कम हो जाती है और इंफेक्शन भी निकल जाता है |
  5. जब गले में इन्फेक्शन हो तब मसालेदार पदार्थ खाना बंद कर देना चाहिए और ऑयली पदार्थ ना खाए |

गले में इन्फेक्शन की होम्योपैथिक दवा : Best Homeopathic Medicine for Throat Infection in Hindi :

सामान्य रूप से अगर गले में इंफेक्शन होता है तो वह घरेलू उपाय से ही निकल जाता है, लेकिन अगर आपके गले का इन्फेक्शन ज्यादा परेशानी से भरा हो तो आपको होम्योपैथिक दवा खाने की सलाह डॉक्टर देते हैं | तो इसीलिए आज हम होम्योपैथी की दवा की जानकारी आपके लिए लेकर आए हैं, जिसके कारण आप आपका गले का इन्फेक्शन दूर कर सकते हैं | लेकिन आपको डॉक्टर की सलाह से ही इनका सेवन करना है |

अर्निका मोंटाना (Arnica Montana Homeopathic Medicine):

अर्निका मोंटाना यह दवाई यूरोप और साइबेरिया की पहाड़ियों में आने वाले पौधे से बनाई जाती है | उस पौधे पर जुलाई या अगस्त महीने में पीले रंग के फूल आते हैं, उन फूलों के जरिए इस दवाई को बनाया जाता है | इसका उपयोग मांसपेशियों के दर्द और घावों को दूर करने के लिए किया है।

अर्निका मोंटाना दुनिया भर में सबसे लोकप्रिय होम्योपैथिक दवाओं में से एक बन गई है, क्योंकि यह दवाई शरीर के चोट पर आसानी से इलाज करती है चाहे फिर वह अंदरूनी हो या बाहर हो और इस दवाई के सेवन से आप जल्द से जल्द आपके गले के इन्फेक्शन को दूर कर सकते हो इसी लिए होम्योपैथी डॉक्टर इस दवाई का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं |

एकोनिटम नैपेल्लस (Aconitum Napellus Homeopathic Medicine) :

Aconitum Napellus यह दवाई एकोनाइट के पौधे से बनाई जाती है |  एकोनाइट के पौधे में हेल1मेट के आकार के नीले और बैंगनी रंग के फूल होते हैं |  जिनका इस्तेमाल इस दवाई को बनाने के लिए करते हैं | और यह पौधा एक से डेढ़ मीटर तक लंबा होता है और 12 महीने आता रहता है, यह पौधा आमतौर पर अमेरिका और कनाडा में पाया जाता है | तो वहां के डॉक्टरों ने इस पौधे की जांच करके इसे गले के इन्फेक्शन के लिए  दवा बनाने के लिए इस्तेमाल किया है | और यह बहुत ही असरदार दवाई है |

यह दवाई ज्यादातर न्यूमोनिया, बुखार , कब्ज, अस्थमा जैसी बीमारियों के लिए भी इस्तेमाल करते हैं | और काफी असरदार तरीके से यह दवाई उस पर इलाज करती है | उसी प्रकार से यह गले के इन्फेक्शन के लिए भी फायदेमंद साबित हो |

टिप्पणी :- ऊपर दी गई Medicine का इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह अनुसार करें |

 

Leave a Reply