पति पत्नी में तलाक

तलाक क्यों होता है ? जानिए लोग Divorce का सहारा क्यों लेते है ?

Last Updated on

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे कैसे करें में और आज का हमारा बड़ा ही गंभीर विषय है कि पति पत्नी में तलाक क्यों होता है ?

दोस्तों एक समय था जब हमारे देश में 100 में से केवल एक या दो ही ऐसे पति पत्नी होते थे जो एक दूसरे से तलाक लेते थे | लेकिन आज के कलयुग के जमाने में 100 में से 40% पति पत्नी डिवोर्स कर लेते हैं | क्योंकि उन लोगों के विचारों में मॉडर्न तरीके से परिवर्तन हो गया है |

लोग पाश्चात्य संस्कृति को अपनाने लगे हैं जिसके कारण उन्हें लोगों को भी बदलना पसंद आ रहा है, तो इसी गंभीर विषय पर हम आज चर्चा करने वाले हैं तो आइए आगे की विषय में हम जान लेंगे कि डिवोर्स होने के प्रमुख कारण क्या है ?

तलाक होने के कारण क्या है ? Divorce Reason in Hindi:

  1. यदि पति पत्नी में हमेशा झगड़े होते हो और उन झगड़े को सुलझाने कि वह खुद भी ना कोशिश करें और ना ही परिवार के लोगों ने उन झगड़ों को खत्म करने का प्रयास किया हो तो उसका सीधा सीधा असर तलाक पर ही होता है | और पति-पत्नी एक-दूसरे से अलग हो जाते हैं |
  2. दूसरा यह कारण है कि पति का या पत्नी का कहीं बाहर चक्कर चल रहा है और वह बात घर में परिवार के सदस्यों को पता चल गई है तो इस कारण भी पति या पत्नी एक दूसरे से तलाक ले लेते हैं |
  3. तीसरा यह कारण है कि घर में पैसों की कमी के कारण एक दूसरों से झगड़े हो रहे हो और एक दूसरों की जरूरतमंद चीजों को पूरा नहीं कर सकते हैं तो एक दूसरे को दोषी करके एक-दूसरे से वह डिवोर्स कर लेते हैं |
  4. अगर पति को किसी चीज की लत है जैसे शराब शबाब या किसी औरत की तो ऐसे में पत्ती उस पति से डिवोर्स कर लेती है |
  5. अगर पत्नी को उसके पति में किसी भी प्रकार से इंटरेस्ट नहीं है वह बाहरी मर्दों के प्रति आकर्षित रहती होगी तो ऐसे में वह पति मजबूरी के कारण पत्नी से तलाक ले लेता है |
  6. अगर पति पत्नी का रिश्ता अच्छा भी हो लेकिन उसके घर वाले उन दोनों के बीच में हमेशा झगड़े लगाते रहते हैं तो यह कारण भी हो सकता है | कि पत्नी तंग आकर रिवर्स ले लेती है और पति पत्नी को खुश करने के लिए डिवोर्स दे देता है |
  7. अगर आपका लव मैरिज हुआ है, और आपके घरवाले उसके लिए अनुमति नहीं दे रहे हैं, तो आप घरवालों की बातों में आकर आपकी पत्नी को या आपके पति को दावत दे देते हैं |

पति अपनी पत्नी से डिवोर्स क्यों लेता है ? Pati patni se talak kyo leta hai?

  • आज के जमाने में तो यही बात ज्यादातर तलाक का कारण होती है की पत्नियों का कहीं बाहर किसी गैर मर्द के साथ रिलेशन होता है | और यह बात जब पति को पता चलती है तो उस वक्त पति उस पत्नी से तलाक ले लेता है |
  • अगर पत्नी हमेशा पति के साथ झगड़ा करती है तो उस से तंग आकर पति उस पत्नी से मुक्ति पाने की कोशिश करता है और तलाक ले लेता है |
  • या फिर पत्नी हमेशा किसी ना किसी चीज की मांग पति के पास करती हो वह किसी भी प्रकार से सेटिस्फेक्शन नहीं करती है हमेशा कोई ना कोई चीज मांग मांग रही रहती है और झगड़ा करती रहती है तो पति ऐसे में उस पत्नी को दूर ही भगाने में सही समझता है | और फिर डिवोर्स दे देता है |
  • या फिर पत्नी पति में किसी भी प्रकार का इंटरेस्ट नहीं दिखाती है, तो उस वक्त पति उसे डिवोर्स दे देता है |
  • और पत्नियों के मामले में भी आज के जमाने में यह कारण सामने आ रहा है कि गलत आदत और गलत लत की वजह से जैसे शराब की लत की वजह से पति उन्हें डिवोर्स दे देता है |
  •  या फिर कोई पत्नी घर के कामों को संभालने में सक्षम नहीं होती है तो उस वक्त पति उसे डिवोर्स देने की ही सोचता है |
  • आखरी और सबसे महत्वपूर्ण कारण जो भारत में आज भी होता है कि दहेज ना मिलने के कारण पति पत्नी पर अत्याचार करता है मारपीट करता है और उसे डिवोर्स दे देता है |

पत्नी अपने पति से डिवोर्स क्यों लेती है ? patni pati se divorce kyu leti hai ?

  • सबसे पहला मुख्य कारण यही है, कि पति को शराब की लत होती है, उसी वजह से वह घर में आकर पत्नी से झगड़े करता है और उसे मारपीट करता है तो इस चीज को तंग आकर या इस चीज को घबराकर पत्नी उससे तलाक ले लेती है |
  • और दूसरा जहां मुख्य कारण है कि किसी पत्नी के पति बाहर किसी गैर औरत के साथ संबंध बनाते हैं, और घर की पत्नी की ओर इग्नोर करते हैं तो ऐसे में पत्नी या तंग आकर अपने पति को डिवोर्स दे देती है |
  • अगर पति ही काम के सिलसिले में हमेशा घर के बाहर ही रहता हो और पत्नी को अकेला छोड़ देता हो तो ऐसे में पत्नी अकेला महसूस करती है और मानसिक संतुलन खराब करके वह अपने पति से तलाक ले लेती है |
  • कई घरों में यह पाया जाता है कि पत्नी को ससुराल में बहुत सारे अत्याचार सहन करने पड़ते हैं | जिसकी वजह से वह पति पति से ड्राइवर से ले लेती है | या फिर पति को अलग रहने की मांग करती है और ऐसे में पति भी उसकी ना सुने तो वह तलाक लेने का ही निश्चय कर लेती है |

तलाक को रुकवाने के तरीके : Talak kaise roke ?

डिवोर्स पति पत्नी के दोनों की सहमति से हो रहा है तो उसे रुकवाने के लिए परिवार का कोई महत्वपूर्ण सदस्य ही उन्हें समझा सकता है | या फिर डिवोर्स के दौरान केवल एक ही व्यक्ति किसी से डिवोर्स मांग रहा हो तो दूसरा व्यक्ति उस व्यक्ति को प्यार से और शांतिपूर्वक समझा सकता है कि आगे से हम दोनों अच्छे से और प्यार से रह सकते हैं | या फिर पति या पत्नी से किसी प्रकार की गलती हो गई है तो दोनों ने एक दूसरे से माफी मांगने जरूरी है और आगे की जिंदगी में वह चीज पति या पत्नी दोबारा नहीं करेंगे इसका विश्वास दिलाना है | जैसे कि शराब की लगा दे या बाहर किसी गैर मर्द गैर औरत के साथ संबंध |

अगर पत्नी के घर में घर वालों के और से अत्याचार हो रहे हैं तो पति ने ऐसे मामलों में घरवालों को समझा कर पत्नी पर होने वाले अत्याचार रुकवा दे तो ऐसे में डिवोर्स भी रुक सकता है | तो यही कारण है डिवोर्स रुकवाने के और कोई व्यक्ति उन लोगों की मदद नहीं कर सकता है तो कोर्ट उन लोगों को 6 महीने तक साथ रहने की सलाह देता है जिससे उन दोनों के बीच के गिले-शिकवे कम हो सके और वह एक दूसरे के साथ फिर से रहना पसंद करें |

तलाक क्यों नहीं लेना चाहिए ? Talak lena chahiye ya nahi ?

  • तलाक लेने से खुद की जिंदगी तबाह हो जाती है यानी खराब हो जाती है उन लोगों को समाज में किसी भी प्रकार से मान सम्मान नहीं दिया जाता है |
  • दूसरी चीज यह है अगर आपको छोटे-छोटे बच्चे हैं और आप डिवोर्स दे रहे हैं तो उन बच्चों की परवरिश में बहुत सारी कमियां आ जाती है जिनके कारण उनकी भी जिंदगी खराब हो जाती है इसीलिए डिवोर्स नहीं लेना चाहिए |
  • तलाक लेने के बाद आप दोनों बिल्कुल ही अकेले हो जाते हैं |
  • डिवोर्स के बाद आपसे कोई शादी करेगा इसकी भी कोई गारंटी आज के समाज में नहीं है |
  • कई सारे ऐसे मामले हैं जिनमें पति या पत्नी के डिवोर्स देने के बाद पति या पत्नी ने खुदखुशी कर ली है | जिसकी वजह से उनके बच्चों पर और उनके परिवार पर बहुत सारी परेशानी है आ चुकी है |
  • तलाक लेने से दो व्यक्ति ही नहीं बल्कि दो परिवारों के संबंध टूट जाते हैं | और फिर ऐसे में दोनों परिवारों के सदस्यों की जिंदगी में बहुत सारी परेशानियां आती है | तो इन्हीं कारणों की वजह से तलाक कभी भी नहीं लेना चाहिए |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *