कफ

कफ क्यों होता है ? जानिए कफ होने पर क्या करे ? जानिए

Last Updated on

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे कैसे करें मैं और आज का हमारा विषय है कफ क्यों होता है ? कफ यह पित्त का दूसरा भाग होता है और हमारे शरीर में छाती, नाक, सर में, रहता है और इसकी वजह से हमें हमेशा किसी ना किसी प्रकार की बीमारी होती रहती है | कफ यह काफी सारे एसिड के रिएक्शन से बनता है और हमेशा किसी ना किसी प्रकार से शरीर में उमड़ता है |  जैसे कि सर्दी जुकाम, या अन्य किसी प्रकार की बीमारी |

कफ छाती में जमा होकर यह बलगम पैदा करते रहता है जिसमें मुंह में कड़वाहट होती है और नाक के जरिए यह बाहर भी आता है | और इसके वजह से लोगों को काफी जो काम होते हैं या फिर कई बार कई लोगों को छाती में दर्द होता है या जलन महसूस होती है |  तो आज हम आपको इसके बारे में बताने वाले हैं कि आंखें कफ क्यों होता है और कैसे होता है | अगर हुआ है तो इसका कैसे जल्द से जल्द आप आसानी से इलाज कर सकते हो | तो चलिए बढ़ते हैं आगे की जानकारी की ओर |

कफ क्यों होता है ? Cough kyo hota hai ?

दोस्तों जब हम भोजन करते हैं उसके बाद हमारे पेट को वह भोजन पचाने के लिए 4 घंटे का समय लगता है |  जिस वक्त पेट में भोजन पचने की प्रक्रिया चलती रहती है | उस वक्त एसिड की रिएक्शन के जरिए एक झाकदार यानी   गाढ़ा पदार्थ उत्पन्न होता है जिसे हम कफ कहते हैं |

कफ विशिष्ट प्रकार के पदार्थ खाने पर होता है जैसे के मांस मच्छी ज्यादा दूध का सेवन |  या अगर आप ज्यादा से शराब पीते हो तो उसी कारण आपको कफ होता है |

छाती में कफ होने पर क्या करें ? Chati me cough hone par :

दोस्तों छाती में कफ होने पर आप आपके  डॉक्टर की सलाह अनुसार दवाइयां ले सकते हैं | या फिर आप कई अन्य प्रकार के योग करके  कफ को आपके शरीर से बाहर निकाल सकते हैं | अगर इस प्रक्रिया से भी आपके शरीर का कफ शरीर के बाहर नहीं निकलता हो तो हम आपको एक बेहतरीन तरकीब बताने वाले हैं |

रोज सुबह उठने के बाद बासी मुंह और खाली पेट गर्म पानी पीना चाहिए | गर्म पानी को इतनी मात्रा में पिएं आपको आपका पेट पूरी तरह फुलने तक गर्म पानी पीना है | और 5 मिनट बाद उसे  उल्टीया के जरिए शरीर से बाहर निकाले | उसमें आपके सारे कब पिघल जाते हैं और उस गर्म पानी के साथ बाहर आ जाते हैं |

बार बार कफ होने की समस्या का इलाज : Bar bar cough hone ki samasya ka ilaj :

दोस्तों अगर आपको बार बार कफ की बीमारी होती है |  तो आपने आपके भोजन को सही मात्रा में और सही ढंग से करना  चाहिए | जिसमें किसी भी प्रकार से ज्यादा ना मसालेदार पदार्थो हो, और ना ही खट्टे पदार्थों हो |

अगर आप सभी प्रकार की चीज है सही मात्रा में खाते हो तो आपको कफ की समस्या है यह कम हो जाती है | इसके लिए आप एक्सरसाइज और योगासन भी कर सकते हैं |  और हमने ऊपर की जानकारी में आपको जिस प्रकार की प्रक्रिया बताइए उस तरीके से भी आप महीने में दो बार वह प्रक्रिया करके कफ को शरीर के बाहर निकाल सकते हैं |

कफ की पतंजलि दवा : Cough ki Patanjali Dawa :

कफ की बीमारी पर पतंजलि ने एक ऐसी दवा बनाई है जो बहुत असरदार तरीके से कम पर काम करती है जिस दवाई के नियमित रूप  से सेवन करने पर वह कब को पिघला देती है | और फिर कफ शरीर से बाहर आसानी से निकल जाते हैं | चलिए आगे की जानकारी में हम आपको उस दवाई के बारे में जानकारी देने वाले हैं |

आरोग्यवर्धिनी वटी : Arogyavardhini Vati

पतंजलि की यह आरोग्यवर्धिनी वटी 100% आयुर्वेदिक और नेचुरल तरीके से बनाई गई है जिसका इंसान के शरीर पर किसी भी प्रकार से साइड इफेक्ट नहीं होते हैं |  और इस दवाई के नियमित सेवन से शरीर में होने वाले को आसानी से निकल जाते हैं | और यह दवाई साथ ही साथ शरीर के रोग प्रतिकार शक्ति को भी बढ़ाती है और पाचन तंत्र को मजबूत करती है |  जिसके वजह से खाया हुआ वह जल्द से जल्द पाचन हो जाता है और किसी भी प्रकार की कब की बीमारी दोबारा नहीं होती है |

कफ के लिए होम्योपैथिक दवा : Cough ki Homeopathic Dawa in Hindi :

दोस्तों हम आपको कफ के इलाज के लिए होम्योपैथिक दवाई का इस्तेमाल कैसे करते हैं और कौन सी दवाई ली जाती है इसके बारे में जानकारी देने वाले हैं तो चलिए उस दवाई के बारे में जानकारी प्राप्त कर लेंगे |

R9 drop :

दोस्तों ऊपर दी गई दवाई यह लिक्विड फॉर्म में मिलती है |  जब हमें कब होते हैं उस वक्त हमारे गले में सूजन आ जाती है और गले में खराश भी उत्पन्न हो जाती है तो उस वक्त इस दवाई के 10 ड्रॉप आपको दिन में तीन बार लेने होते हैं |  जिससे यह सीधा अपने चेस्ट में जाकर कफ को पिघला देता है, और उसे डिसेंट्री के जरिए या पेशाब के जरिए शरीर से बाहर निकाल देता है |

Ipecacuanha 30 :

इपेकैक एक पौधा है। जिसका उपयोग दवा बनाने के लिए किया जाता है। इपेकेक यह एक  सिरप है |

इसका उपयोग बच्चों में ,कफ एक गंभीर प्रकार के दस्त और कैंसर के इलाज के लिए भी किया जाता है। इपेकैक का उपयोग खाँसी के लिए भी किया जाता है | और डॉक्टर इसी दवाई  को लेने की सलाह देते हैं क्योंकि यह जल्द से जल्द आपके शरीर में असर करता है |

असरदार कफ सिरप के नाम : Best Cough Syrup in Hindi :

जैसे कि हमने आपको ऊपर की जानकारी में कब की दवाइयों के बारे में बताया है |  उसी प्रकार से कफ सिरप यह भी दवाई होती है जो आपको डॉक्टर की सलाह अनुसार लेनी होती है | तो हम आपको यह बताने वाले हैं कि कौन सा सिरप कफ के लिए सबसे ज्यादा असरदार होता है |

Himalaya Koflet Syrup :

कोफलेट सिरप में तुलसी, मधु और यष्टिमधु का मिश्रण इस्तेमाल किया जाता हैं। कोफ्लेट सिरप  का इस्तेमाल सूखी खांसी में फायदेमंद है। यह सिरप गले में होने वाले चिपचिपा तरल पदार्थों के स्त्राव को कम करते हैं | और यह सिरपमैं और मुंह में होने वाली जलन को भी राहत  देता है | कोफलेट सिरप की श्वसन मार्ग को शांत करता है। साथ ही साथ धूम्रपान से होने वाली खांसी और पुरानी खांसी पर असरदार तरीके से फायदेमंद साबित होता है |

Benadryl Cough Syrup :

इस सिरप का इस्तेमाल जब आपको सर्दी खांसी और बहती नाक की समस्या हो उस वक्त किया जाता है |  जब कब होता है तब नाक की नलिका में तरल पदार्थ जम जाते है | जिसके कारन सास लेने में परेशानी होती है और नक् पूरी तरह बंद हो जाता है | तो ऐसे में यह सिरप सास लेने के मार्ग को खुला करता है और आपके गले और नक् को रहत दिलाता है | यह साइनस जैसी बीमारी को भी कम कर देता है |

टिपण्णी :- उपर दी गयी दवाइयों का सेवन डॉक्टर के सलाह अनुसार ले |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *