बाहर निकले दांत अंदर कैसे करें

नमस्ते दोस्तों, कैसे हो आप? सभी लोगों की खूबसूरती उनके स्माइल से झलकती है। दांत हमारे चेहरे की सुंदरता बढ़ाने में अहम भूमिका निभाते हैं। खिलखिलाकर हंसने से हमारे चेहरे की चमक बढ़ जाती है। जब हम खिलखिलाकर हंसते हैं, तब हमें अंदर से भी खुशी महसूस होती हैं और लोग भी हमको देखकर खुश होते हैं। लेकिन, अगर आपके दांत टेढ़े मेढे हो या आपको दातों की कोई समस्या हो; तो ऐसे में आप खिलखिलाकर हंसने से परहेज कर देते हैं। क्योंकि, आपको लोगों के सामने अपने टेढ़े मेढ़े दांतो की वजह से काफी असहजता महसूस होती हैं।

आमतौर पर इंसानों में पूरे ही जीवन में दो बार दांत उगते हैं। पहली बार जब हम छोटे होते हैं और वह गिरने के बाद दांत फिर से आते हैं। बचपन में जब दांत दुबारा आते हैं, तो कभी कबार वह अंदर की तरफ आने के बजाय बाहर की तरफ आते हैं और आपके दांत टेढ़े मेढ़े हो जाते हैं। यह टेढ़े मेढ़े दांत ना कि आपकी सुंदरता को खराब करते हैं, बल्कि उनका ध्यान रखने में भी काफी परेशानी होती है। हम उनको ठीक से ब्रश नहीं कर पाते हैं, इसलिए दातों में कैविटी लगने का डर लगा रहता है। तो दोस्तों, आज बात करेंगे बाहर निकले दांत अंदर कैसे करें और उनके कुछ घरेलू इलाज के बारे में।

दांत बाहर आने के कारण

दांत बाहर आने के कई कारण हो सकते हैं।

  1. अंगूठा चूसना- दांत बाहर आने का अंगूठा सूचना एक बहुत ही आम और प्रमुख कारण होता है। कई मां बाप अपने छोटे बच्चे के अंगूठा चूसने की आदत से काफी परेशान होते हैं। इससे ना कि आपके दांत टेढ़े मेढ़े होते हैं, बल्कि आपकी स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं भी जुड़ी होती है। इसकी वजह से बचपन में हमें हमेशा डांट मिलती है। बच्चे जब बार-बार अंगूठा चूसते हैं, तो उनके जबड़े का आकार बदलता है और वह बाहर की तरफ आ जाता है। इससे दातों पर भी दबाव पड़ता है। इन सब की वजह से आपके दांत भी बाहर की तरफ आ जाते हैं।
  2. अनुवांशिक कारण- कई बार अनुवांशिक कारणों से भी आपके दांत बाहर आते हैं। अगर आपके घर के सदस्यों को यही समस्या है, तो आपको भी हो सकती हैं। कई बच्चों में उनका जबड़ा जन्म से ही ऊपर की तरफ उभरा हुआ होता है। ऐसे में उनके दांत भी बाहर की ओर निकल आते हैं।
  3. पेसिफायर- कई बार बच्चे को शांत कराने के लिए मां बाप बच्चे को पेसिफायर दे देते हैं। बच्चा उससे शांत तो हो जाता है, लेकिन पैसिफायर की वजह से उनको ओवरबाइट की समस्या हो सकती हैं। अध्ययन के अनुसार यह साबित हो चुका है, कि पेसीफायर का इस्तेमाल करने से आपके बच्चे के दांत बाहर की तरफ आते हैं। इसीलिए, पेसिफायर का जितना हो सके उतना कम इस्तेमाल करें।
  4. जीभ बाहर निकालना- कई बार जीभ बाहर निकलने की आदत से भी आपके बच्चे के दांत बाहर की तरफ आते हैं। बच्चे बड़े ही जिद्दी होते हैं। वह गलत चीज जल्दी सीख जाते हैं और उसे ना करने को कहो, तो सुनते भी नहीं है। ऐसे में, उनके दांत बाहर आ जाते हैं।
  5. एक्स्ट्रा या मिसिंग दांत- कभी-कभी आपके एक से दो दांत मिसिंग होते हैं। ऐसे में आसपास के दांत शिफ्ट होने लगते है और वह आगे की तरफ बाहर निकल आते हैं। इसी के साथ, एक्स्ट्रा दांत होने की वजह से भी आपके दांत बाहर आ जाते हैं। दातों में किसी तरह की परेशानी होने के वजह से भी आपके दांत बाहर की तरफ निकल आते हैं।

बाहर निकले दांतो को ठीक कैसे करें

बाहर निकले दांत को ठीक करने के लिए आप कुछ घरेलू इलाज अपना सकते हैं। इसी के साथ, आप एक्सपर्ट डॉक्टर की सलाह भी ले।

  1. चेहरे पर ना डाले भार- कभी-कभी हम काम करते समय चेहरे पर एक हाथ रख देते हैं। उसकी वजह से हमारे दांतो पर दबाव पड़ता है और दांत बाहर निकलने की संभावना होती हैं। ऐसे में ऐसा कोई काम ना करें, जिससे आपके चेहरे पर दबाव पड़े। आप बैठते समय अपना पोस्चर सही रखें। जिससे कि, आपकी गर्दन पर भी असर नहीं पड़ेगा और चेहरे पर दबाव नहीं आएगा।
  2. अंगूठा ना चूसे- छोटे बच्चों में अक्सर अंगूठा चूसने की आदत देखी जाती है। ऐसे में बच्चों को समझाना चाहिए, कि अंगूठा चूसना गलत बात होती है। अंगूठा चूसने से हमारे दांतो पर दबाव आता है और वह बाहर की तरफ निकल आते हैं। ऐसे में, इस आदत को छुड़ाने की कोशिश करनी चाहिए। इसी के साथ, टीनएजर बच्चे और बड़े बच्चे भी मुंह में पेन को चबाते हैं, उससे भी आपके दातों पर प्रभाव पड़ता है। ऐसी आदतों से छुटकारा पाना चाहिए।
  3. पेट के बल ना सोए- पेट के बल सोने से चेहरे पर अंदर की तरफ से दबाव आता है और इस वजह से आपके दांत बाहर आने की आशंका होती है। इसीलिए, पेट पर सोने से परहेज करें और नॉर्मल पोजीशन में सोने की आदत डालें। अगर आपको अपने दांत बाहर से अंदर की तरफ करने हैं, तो पेट के बल नहीं सोना चाहिए।
  4. ब्रेसिज- टेढ़े मेढ़े दांतो को ठीक और सरल स्थिति में लाने के लिए आप डेंटिस्ट के पास जाएंगे, तो डॉक्टर आपको ब्रेसेज का ऑप्शन देते हैं। ब्रेसेज का इस्तेमाल करने से आपके दांत सरल होने में मदद मिलती है। दांतो को सीधा करने के लिए आजकल यह काफी सामान्य और सरल तरीका हो गया है। ब्रेसिज को किसी भी उम्र में लगाया जा सकता है। इनको लगाने से आपके जबड़े की स्थिति सुधारने में और आपके दातों को अलाइन रखने में काफी मदद मिलती है। पारंपरिक ब्रेसेस अगर आप पसंद नहीं करते हैं, तो आप प्लास्टिक अलायनर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  5. पैलट एक्स्पांशन- जिन लोगों में ऊपरी जबड़ा एडल्ट दांतों को मिलाने के लिए बहुत छोटा होता है, ऐसे लोगों के लिए पैलट का इस्तेमाल किया जाता है। पैलट एक्स्पांशन यह एक विशेष उपकरण होता है।
बाहर निकले दांत अंदर कैसे करें
बाहर निकले दांत अंदर कैसे करें

तो दोस्तों, आज के लिए बस इतना ही। उम्मीद है, आपको आज का यह ब्लॉग बाहर निकले दांत अंदर कैसे करें अच्छा लगा हो। धन्यवाद।

Leave a Comment

error: Content is protected !!