बच्चों के बुखार के घरेलू नुस्खे हिंदी में

Must read
कैसे करे
कैसे करे
दोस्तों हम सभी जानकारी केवल आपके लिए ही दे रहे है , आप हमें सहायता करेंगे और आपका साथ हमेशा देंगे इसकी उम्मीद करते है |

बच्चों के बुखार के घरेलू नुस्खे

बच्चों के बुखार के घरेलू नुस्खे
बच्चों के बुखार के घरेलू नुस्खे

बुखार यह एक आम बीमारियों में से है। यह किसी को भी किसी भी उम्र में और किसी भी वक्त हो सकता है। बुखार को इंग्लिश में फेवर कहते हैं। लेकिन बुखार की शुरुआत यह किसी और बीमारी का लक्षण भी हो सकता है। छोटे बच्चों को ज्यादातर जल्दी बुखार होता है। और यह बुखार वायरल इंफेक्शन के कारण होता है। बच्चों के प्रतिकार शक्ति कम होने के कारण यह इंफेक्शन उन पर जल्द ही असर करता है। अगर छोटे बच्चों को बुखार आता है तो बिना डॉक्टर की सलाह लिए बच्चे को किसी भी तरह की दवाई नहीं लेनी चाहिए, यह हानिकारक भी हो सकता है। तो आइए इस लेख में हम आप को बच्चों के बुखार के घरेलू नुस्खे बताएंगे जिसका आपको आगे चलकर बहुत फायदा होगा।

बच्चों को बुखार होने के कारण :-

  1. बच्चों को ठंडे पानी से नहला ना या फिर ज्यादा ठंड लगना, जुकाम होना यह सब बच्चों को बुखार होने के कारण है।
  2. छोटे बच्चे ज्यादातर पूरा दिन बाहर खेलते रहते हैं जिसके कारण उन्हें बहुत थकावट हो जाती है और इसके वजह से उन्हें बुखार हो सकता है।
  3. बच्चों की प्रतिकार शक्ति कम होती है, इसके कारण बच्चों पर इन्फेक्शन का परिणाम जल्द ही होता है। इसके कारण बच्चों को बुखार हो सकता है।

बुखार आने के लक्षण :-

  1. बच्चों की आंखें लाल होना , बच्चे को भूख ना लगना, बच्चे को सांस तेज होना यहा सब बुखार आने के लक्षण है।
  2. बच्चे को कब्ज होना,बच्चे को सर गरम होना,बच्चे को चक्कर आना,बच्चे को सुस्ती आना,बच्चे को ज्यादा प्यास लगना,बच्चे को ज्यादा ठंड लगना यह बुखार आने के लक्षण है।

बच्चों के बुखार के घरेलू नुस्खे :-

  1. अगर आप जायफल अच्छी तरह से पीसकर बच्चे के सिर पर, नाक पर तथा छाती पर लेप लगाने से बच्चे का बुखार जल्द ही ठीक हो जाएगा।
  2. अगर बच्चा 6 महीने से छोटा है तो उसके लिए मां का दूध एक बहुत असरकारक दवा है। मां के दूध से बच्चे की प्रतिकार शक्ति बढ़ती है और बच्चा बुखार के किटाणु से लड़ने की ताकत रखता है।
  3. छोटे बच्चों के लिए तुलसी यह बहुत असरकारक उपाय है। तुलसी यह एक नैसर्गिक एंटीबायोटिक दवा है जो बच्चों की इम्युनिटी को बढ़ाता है। अगर आप बुखार के बाद एक गिलास पानी में मुट्ठी भर तुलसी के पत्ते डालकर उसे अच्छे से उबाल लेते हैं और फिर यह पानी में थोड़ी शक्कर डालकर बच्चे को पिलाते हो तो बच्चे को बुखार से जल्दी छुटकारा मिलेगा।
  4. अगर नवजात शिशु दिन भर रो रहा है तो उसे बुखार हो सकता है इसलिए जल्द ही डॉक्टर से इस बात की सलाह ले।
  5. अगर बच्चा बुखार के बीमारी से ग्रस्त हैं तो बच्चे को सोते समय बच्चे के सिर पर गीली पट्टी रखें। इससे बुखार उतारने में मदद होती है।
बच्चों को सुलाने के तरीके न्यू बोर्न बेबी को कैसे सुलाए
दस्त का इलाज बच्चों के दस्त रोकने के उपाय
ठंड में बच्चे का ख्याल कैसे रखें नवजात शिशुओं की देखभाल
More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

नयी जानकारी :
error: Content is protected !!