Home बच्चे की देखभाल बच्चा दूध पीने को मना कर रहा है तो क्या करें ?...

बच्चा दूध पीने को मना कर रहा है तो क्या करें ? जानिए आसान तरीके

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे कैसे करें मैं और आज का हमारा विषय है बच्चे को लेकर है, जो कि आजकल के बच्चे दूध पीने के लिए बहुत ही नखरे और नौटंकी करते हैं | तो हमारा आज का विषय है यह बच्चा दूध पीने को मना कर रहा है तो क्या करें ?

आजकल के बहुत सारे बच्चे खाने पीने के लिए इतने परेशान करते हैं कि उसके बारे में सोचना ही गलत है | आजकल के मां-बाप को बच्चे के भविष्य के बारे की चिंता ना होते हुए उसके खाने-पीने की चिंता लगी रहती है कि वह आज खाएगा या नहीं खाएगा | और उसके लिए न जाने बेचारे मां-बाप क्या-क्या नहीं करते |  तो ऐसे में हम आपको आज बेहतरीन उपाय बताने वाले हैं जिसके जरिए आपका बच्चा तुरंत दूध पीने लगेगा और आपको बिना परेशान किए वह खुद से दूध पीने के लिए मांगेगा तो चलिए जान लेते हैं ऐसी जानकारी के बारे में जो आपके लिए और आपके बच्चे के लिए काफी फायदेमंद साबित रहेगी |

बच्चे को दूध पिलाना है जरूरी ? Breast Feeding in Hindi:

दोस्तों बच्चे को दूध पिलाने के साथ-साथ उसे अच्छा पोषक तत्व से भरा खाना खिलाना भी होता है, जरूरी  लेकिन सबसे पहले बच्चे दूध पीते हैं | तो दूध क्यों पीते हैं ? दूध पीने से बच्चों की हड्डियां मजबूत होती है, और बच्चों में कैल्शियम प्रोटींस विटामिंस की उत्पत्ति होती है |  जिनके जरिए बच्चा अपने शारीरिक अंगों के विकास करने में सक्षम होता है और अपने दिमाग को तेज बना सकता है | बच्चों के 5 साल तक उनके दिमाग का पूरी तरह से विकास हो जाता है, तो उसी दिमाग को अच्छे से चलाने के लिए दूध पीना है जरूरी होता है |  इसीलिए आज के मां बाप बच्चे को दूध पिलाने के लिए ना जाने क्या-क्या नहीं करते हैं और आज के भाग दौड़ वाले जमाने में बच्चों को मां का दूध मिलना बहुत ही कम पाया जाता है उसकी वजह से उन्हें बाहरी दूध ही पिलाना पड़ता है | तो ऐसा दूध पिलाना इसीलिए जरूरी होता है ताकि बच्चा अपने शारीरिक अंग का विकास कर सके |

तो आगे की जानकारी में हम आपको बताते हैं अगर बच्चा दूध पीने से इनकार करे तो उसे किस प्रकार से दूध पिलाना चाहिए |

बच्चे दूध पीने से इनकार कर रहे हैं तो क्या करें ? If baby is not drinking milk then what ? in Hindi:

दोस्तों जैसे कि हमने ऊपर की जानकारी में दूध पिलाने की अहमियत बताई है, उसी प्रकार से अगर आपका बच्चा थोड़ा बड़ा हो और उसे बातें समझती हो तो उसे दूध के बारे में जानकारी दे दें | जिसके जरिए वह अगर समझदार हो तो आपकी बातों को मानकर दूध पीने लगेगा अगर समझाने के बावजूद भी बच्चे दूध पीने से इनकार कर रहे हैं, तो आपको हम नीचे कुछ उपाय बताने वाले हैं उनका इस्तेमाल करके आप आपके बच्चे को आसानी से दूध पिला सकते हैं |

दूध में फ्लेवर मिलाकर पिलाएं : Flavoured milk For baby in Hindi:

सादा दूध थोड़ा से अगर बच्चे को बदबू आती है, इसीलिए बच्चे उसे पीने के लिए इनकार करते हैं यह एक कारण होता है बच्चे के दूध न पिने का |

बच्चों को चॉकलेट बहुत पसंद होती है और अगर आप बच्चों को यह बताएंगे और दिखाएंगे कि दूध में चॉकलेट मिलाकर पियो तो बहुत ही अच्छा लगता है |  तो ऐसे में आपने बच्चों के दूध में फ्लेवर को मिलाकर उन्हें देना है, जिससे बच्चे दूध पीना पसंद करने लगते हैं | फ्लेवर्स में आमतौर पर बच्चों को चॉकलेट फ्लेवर ही पसंद आता है, लेकिन कई सारे ऐसे बच्चे होते हैं जिन्हें स्ट्रौबरी फ्लेवर, वनीला फ्लेवर, चॉकलेट फ्लेवर  यह पसंद आते हैं तो आपने उस प्रकार से प्रोटीन और विटामिंस, और एनर्जी से भरी फ्लेवर पाउडर मार्केट से लानी है | जैसे की कंप्लेन, हार्लेक्स, बॉर्नविटा, इत्यादि इन सभी को आप दूध में मिलाकर अपने बच्चों को पिला सकते हैं और बच्चे इन्हें बहुत पसंद करते हैं |

मिल्क शेक बनाकर पिलाएं : Milk Shake For Baby in Hindi:

दूध से बहुत सारे पदार्थ आप बना सकते हैं और अपने बच्चे को खिला सकते हैं या पिला सकते हैं |  जैसे कि अगर आप दूध से मिल्क शेक बनाकर बच्चे को पिलाए तो बच्चा उस मिल्क शेक को बहुत पसंद करता है |  अब milk shake बनाने के लिए बहुत सारे फ्लेवर्स आपको बाजार में मिल जाते हैं | जिन्हें हम पल्प कहते हैं,  पल्प यानी फलों के रस को निकाल कर उन्हें एक रसायन के माध्यम से ज्यादा दिनों तक टिकाए रखते हैं और उनमें शक्कर को मिलाकर पहले से ही मिटा बनाकर रखते हैं |  तो ऐसे पल्प को सिर्फ दूध में मिलाकर आप को बच्चों को पिलाना होता है | जिससे आपके बच्चे को दूध से एनर्जी विटामिंस तो मिलेंगे ही लेकिन उस फल से भी उन्हें प्रोटीन और एनर्जी मिलेगी जिसके जरिए वह उसके शारीरिक अंगों को जल्द ही विकसित कर लेता है |

बच्चे के पसंद के कार्टून वाले गिलास में मिलाएं : Use Cartoon Mug for Baby:

दुनिया में सबसे ज्यादा मात्रा पाई जाने वाली बच्चों की ही है,  जिनके बलबूते पर आज के जमाने में न्यूज़ चैनल से ज्यादा कार्टून चैनल चलते हैं |  जो दुनिया के हर घर में दिन में के चौबीस घंटों में से चार से 5 घंटे चलते रहते हैं और बच्चे कार्टून के जरिए अपना सुपर हीरो तय कर लेते हैं |  और उनके जैसा बनने के लिए अपने मां-बाप के पास जिद करते हैं | तो इसी बात को मध्य नजर रखते हुए कारोबारियों ने कार्टून को लेकर बच्चों के सामान को बनाया है | जैसे कि बच्चे की स्कूल बैग, बच्चे का टिफिन, बच्चे की कंपास, बच्चे के जूते, बच्चे के कपड़े, या बच्चे के खाने पीने जाने वाली प्लेटऔर गिलास |

जब आप बच्चे को कहीं मॉल में या शॉपिंग करने के लिए ले जाते हो तो बच्चे इन्हीं चीजों को खरीदने की रट लगाए बैठते हैं | और कई सारे बच्चे ऐसे ही चीजों में खाना खाते हैं | तो आपने आपके बच्चे को जो भी कार्टून पसंद है उस कार्टून के अनुसार उसके खाने-पीने की चीजों को खरीदना है जिनमें वह अच्छे से और भरपेट खाना खा सके |  फिर ऐसे में दूध पीने की भी गई सारे गिलास आते हैं, जो आपको ढूंढने की जरूरत नहीं होती है बच्चा ही आपको ढूंढ कर ला दे सकता है आपको केवल उसके सिर्फ पैसे देने हैं | अगर वह गिलास में आप अपने बच्चे को दूध पिलाते हो और यह बात समझाते हो कि आप उस कार्टून के सुपर हीरो की तरह यह दूध पीने के बाद सुपर हीरो बन जाओगे तो बच्चा खुशी-खुशी वह दूध पीने लगता है |

मोबाइल पर कार्टून लगा कर दूध पीने को दे ? Dudh Pite samay Cartoon Lagaye:

आज के जमाने में सबसे ज्यादा यही बात चलती आ रही है, अगर बच्चा रोता है तो उसे मोबाइल पर कार्टून लगा कर देते हैं, अगर बच्चा खाना नहीं खाता है तो उसे मोबाइल पर कार्टून लगा कर देते हैं, या बच्चा कोई चीज पीना पसंद नहीं करता है तो उसे कार्टून लगा कर देते हैं |  दोस्तों हम इस बात के बिल्कुल भी विरोध में है क्योंकि यह बात आपके बच्चे के भविष्य के लिए हानिकारक साबित हो सकती है क्योंकि इस बात से बच्चा खेलना कूदना बंद कर देता है और केवल उस मोबाइल के अंदर ही खेलकूद देखने के लिए पसंद करने लगता है जिसकी वजह से उसकी शारीरिक अंगों  का विकास रूक जाता है और बच्चा मानसिक रोगी होने लगता है |

बच्चा अगर बहुत ही रो रहा है तो उसे एक आद बार पांच 10 मिनट के लिए आप कार्टून लगा कर देते हो तो वह अलग बात होती है लेकिन आप हमेशा हर बार यही चीज बच्चे के साथ दोहराते हैं तो यह आपके बच्चे पर ही गलत असर साबित कर सकती है | इसीलिए हम इस बात पर किसी भी प्रकार से जानकारी नहीं देंगे कि आप मोबाइल पर कार्टून लगा कर दो और आपका बच्चा दूध पीने लगेगा | क्योंकि उस मोबाइल के अंदर बहुत ही ज्यादा मात्रा में रेडिएशंस होते हैं जो अपने शारीरिक एनर्जी को कम कर देते हैं | जिसके जरिए बच्चों को कान की परेशानी, आंख की परेशानी, होने लगती है और छोटे-छोटे बच्चे बड़े-बड़े नंबर के चश्मे पहन कर घूमने लगते हैं |और वह मानसिक तौर पर बहुत ही कमजोर हो जाते हैं | और ऐसे बच्चे खेलकूद में बिल्कुल भी इंटरेस्ट नहीं लेते हैं |

तो इसीलिए यह चीज बिल्कुल भी ना करें, बाकी हमने ऊपर दी गई जानकारी के अनुसार आप बच्चों को खाना खिला सकते हैं या दूध पिला सकते हैं |

कैसे करे
दोस्तों हम सभी जानकारी केवल आपके लिए ही दे रहे है , आप हमें सहायता करेंगे और आपका साथ हमेशा देंगे इसकी उम्मीद करते है |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

सपने में कार देखना इसका मतलब क्या है ? Sapne Mein Car

सपने में कार देखना इस सपने का सपना फल अगर आप जानने का प्रयास कर रहे हो, तो आप सही जगह पर आए हो...

सपने में दूध देखना इसका मतलब क्या है ? Sapne Mein Doodh

सपने में दूध देखना इस सपना फल के बारे में आज के इस लेख में हम जानकारी देने वाले हैं | स्वप्न शास्त्र में...

सपने में बाइक देखना इसका मतलब क्या है ? Sapne Mein Bike

सपने में बाइक देखना ऐसा सपना अक्सर नौजवान युवकों का आता है और यह सपना उन्हें अपनी जिंदगी में क्या होने वाला है ?...

चूत चाटने के फायदे क्या होते है ? चूत चाटने की विधि के साथ

आज हम आपको महिलाओं की चूत चाटने के फायदे बताने वाले हैं | आज हम आपसे कुछ ऐसे विषय पर बात करने वाले हैं,...